बरेली। निगम कर्मचारी की पत्नी व सौतेली मां ने छोटी बेटी की हत्या कर उसका शव आंगन में दफन कर दिया। दो दिन बाद लोगों को इसकी भनक लगी। उन्होंने मामले की शिकायत इज्जतनगर पुलिस से की। पुलिस ने निगमकर्मी, उसकी पत्नी और भांजे को हिरासत में लिया है। शव को खुदवाकर बाहर निकालने की अनुमति मिल गई है। मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को बाहर निकालकर उसका पोस्टमार्टम कराया जायेगा। आरोपियों ने गला दबाकर हत्या किये जाने की बात स्वीकार की है।

इज्जतनगर में आलोक नगर कंजादासपुर नई बस्ती निवासी रवि बाबू नगर निगम में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। पहली पत्नी से दो बेटियां थी। पत्नी की मौत के बाद उन्होंने दूसरी शादी कर ली। आरोप है कि सौतेली मां दोनों लड़कियों के साथ मारपीट करती है। तीन दिन पहले भी मारपीट की आवाज आई थी। इसके बाद से वह लड़की नहीं दिखी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मंगलवार दोपहर को काजल (7) की उसकी सौतेली मां ने गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को चुपचाप आंगन में दफना दिया।

दो दिन तक बच्ची बाहर नहीं दिखी तो मोहल्ले वालों को शक हुआ। बातचीत में निगमकर्मी और उसकी पत्नी रीतू ने कहां कि वह रिश्तेदारी में गई है लेकिन शक बढ़ने पर पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इज्जतनगर पुलिस ने देखा की मकान का फर्श टूटा है। वहां पर ही बच्ची को दफनाया गया है। पुलिस ने मकान को सील कर दिया है। डीएम से आंगन खोदने की अनुमति मांगी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.