भारतीय क्रिकेट टीम के ‘भरोसेमंद’ बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने हाल अपना वर्ल्ड टेस्ट प्लेइंग इलेवन चुना है। इस वर्ल्ड प्लेइंग इलेवन में उन्होंने चार भारतीय खिलाड़ियों को शामिल किया है। इसके अलावा उन्होंने 12वें और 13वें नंबर के खिलाड़ियों के लिए भी भारतीय क्रिकेटरों का चुनाव किया है। पुजारा ने दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में आगे बढ़कर शानदार परफॉर्म किया है। जब 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया टीम विराट कोहली को अपना सबसे अहम विकेट मांग रही थी, तब चेतेश्वर पुजारा ने चुपचाप शानदार खेल दिखाया और भारत को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

ऐसा माना जाता है कि चेतेश्वर पुजारा ने टेस्ट क्रिकेट में वह कर दिखाया, जो राहुल द्रविड़ ने छोड़ा था। सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने 2018-19 में सात पारियों में लगभग 74 के औसत से 571 रन बनाए। पुजारा ने इस दौरान तीन शतक जड़े। पुजारा ने टेस्ट क्रिकेट में राहुर द्रविड़ से काफी कुछ सीखा है। हाल ही में पुजारा ने वर्ल्ड टेस्ट प्लेइंग का चुनाव किया, जिसमें विराट कोहली और स्टीव स्मिथ को शामिल किया।

पुजारा ने इस वर्ल्ड टेस्ट प्लेइंग इलेवन में खुद को भी शामिल किया। इसके साथ ही उन्होंने गेंदबाजी में भारत की तरफ से रविचंद्रन अश्विन और जसप्रीत बुमराह को शामिल किया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन के साथ ओपनिंग के लिए चुना। तीसरे नंबर पर पुजारा ने खुद को रखा, फिर इसके बाद विराट कोहली और स्टीव स्मिथ को लिया।

भारतीय टेस्ट बल्लेबाज के लिए विकेटकीपर-बल्लेबाज के लिए टॉप च्वॉइस बीजे वाटलिंग हैं। पुजारा की वर्ल्ड टेस्ट प्लेइंग इलेवन में रविचंद्रन अश्विन इकलौते स्पिनर हैं। इसके अलावा जसप्रीत बुमराह, पैट कमिंस और कगिसो रबाडा तेज गेंदबाजों को शामिल किया। पुजारा ने दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में भारत की तरफ से टेस्ट मैचों की सीरीज में खेलते हुए नजर आएंगे।

चेतेश्वर पुजारा वर्ल्ड टेस्ट प्लेइंग इलेवन:
डेविड वॉर्नर, केन विलियमसन, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, बेन स्टोक्स, बीजे वाटलिंग (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, पैट कमिंस, कगिसो रबाडा, रवींद्र जडेजा (12वां खिलाड़ी), मोहम्मद शमी (13वां खिलाड़ी)।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.