बाबरी मस्जिद के प्रमुख पक्षकार उ.प्र.सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या की सोहावल तहसील के धन्नीपुर गांव में मिली 5 एकड़ जमीन पर बोर्ड को कब्जा मिल गया है। ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने बात करते हुए कहा कि अब जल्द ही ट्रस्ट का परमानेंट एकाण्ट नम्बर यानि पैन हासिल किया जाएगा, फिर उसका बैंक खाता खुलवा कर, आयकर से 80जी व अन्य औपचारिकताएं पूरी करवाई जाएंगी।

इसके बाद ट्रस्ट उस जमीन पर निर्माण कार्य शुरू करने के लिए जनसहयोग से धनराशि संकलित करना शुरू करेगा। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि ट्रस्ट किसी भी तरह केन्द्र या राज्य सरकार से इस निर्माण के लिए आर्थिक सहयोग नहीं मांगेगा। उन्होंने कहा कि वहां बनने वाला अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस बड़ा अस्पताल अयोध्या व आसपास के सभी धर्म, सम्प्रदाय के लोगों को आसानी से बेहतर चिकित्सा सुविधाएं देगा।

इसके साथ ही परिसर में इण्डो इस्लामिक संस्कृति पर शोध कार्य करने के लिए एक रिसर्च सेंटर भी बनेगा। परिसर में शिक्षण संस्थान के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस्लाम में हर मस्जिद में एक मकतब का प्रावधान किया गया है, जहां बच्चे आकर पवित्र कुरआन का पाठ व दूसरे धार्मिक रीति रिवाज सीखते हैं तो इस परिसर में भी यह मकबत तो होगा ही।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.