कोरोना की जांच बढ़ाने के लिए लैब टेक्नीशियनों की भर्ती होगी। यह भर्ती नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) की तरफ से होगी। इसका आदेश जारी कर दिया गया है। जिला स्तर पर अधिकारी जरूरत के हिसाब से लैब टेक्नीशियन रख सकेंगे।

750 पद हैं खाली:
यूपी के सरकारी अस्पतालों में करीब 3200 लैब टेक्नीशियन के पद हैं। इनमें 750 पद ही खाली हैं। आबादी के लिहाज से अस्पतालों में लैब टेक्नीशियन की संख्या पहले ही पर्याप्त नहीं है। खाली पदों ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। हालात यह है कि एक-एक लैब टेक्नीशियन 100 से 200 सौ कोरोना के नमूने एकत्र कर रहा है। दो से तीन घंटे लगातार पीपीई किट पहननी पड़ रही है। लैब टेक्नीशियन एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश रावत के मुताबिक खाली पदों को जल्द से जल्द भरा जाएगा और नए पदों का सृजन भी किया जाए। उन्होंने बताया कि एनएचएम से नए लैब टेक्नीशयन की तैनाती स्वागत योग्य कदम है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.