हमारे रायबरेली संवाददाता

रायबरेली जिले के मुराई का बाग स्थित भागीरथी इंटर कॉलेज में प्रबंधतंत्र की तानाशाही खत्म नहीं हो रही है। यहां पर शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने की बजाय, अब शिक्षकों को बर्खास्त करने की धमकी दी जा रही है। यही नहीं, यहां पर तैनात शिक्षकों को बार-बार यह भी चेतावनी दी है कि अगर हमारे हिसाब से ही काम नहीं किया, तो पूरा जीवन खराब कर दिया जाएगा। यहां की प्रबंधक महोदया का यहां तक कहना है कि मेरे आगे डीआईओएस, जेडी, डायरेक्टर, डीएम और सीएम सब बेकार है। इस विद्यालय में हम जो चाहेंगे, वहीं होकर रहेगा। यही नहीं, यहां पर तैनात एक शिक्षक को बार-बार बर्खास्त करने की भी चेतावनी दी जा रही है।
यहां पर तैनात शिक्षक देवेंद्र यादव को एक बार फिर से बर्खास्त करने की धमकी देते हुए कई तरह के आरोप लगाने की साजिश रची जा रही है। विद्यालय की प्रबंधक महोदया वर्तमान में तैनात प्रधानाचार्य बीरेंद्र प्रताप सिंह के साथ में मिलकर शिक्षक को मानसिक तौर पर प्रताड़ित कर रहे हैं। यही नहीं, विद्यालय की प्रबंधक महोदया गनरों के साथ स्कूल में आकर स्कूल का माहौल खराब करने के साथ ही कहीं न कहीं संकेत भी दे रही है, कि अगर मेरे खिलाफ आवाज उठाई, तो अंजाम इन्हीं गनर के माध्यम से किया जाएगा।
विद्यालय में इस तरह के माहौल पर शिक्षक देवेंद्र यादव ने डीआईओएस को ज्ञापन देकर 9 जुलाई को हुई घटना के बारे में अवगत कराया है। उन्होंने बताया कि विद्यालय की प्रबंधक महोदया ने 9 जुलाई को शिक्षकों के साथ में हॉल परिसर में बैठक लेकर कहा कि आप लोग यह बात अच्छी तरह से समझ लीजिए कि इस विद्यालय में प्रंबधक ही सब कुछ है। डीआईओएस, जेडी, डायरेक्टर, डीएम और सीएम सब कुछ नहीं है। मेँ जो भी चाहूं कर सकती हूं। प्रबंधक के पास इतनी पावर होती है, कि आप को बर्खास्त कर सकता है आप कि सेवाएं समाप्त कर सकता है। आपकी नौकरी मेरे हाथों में हैं, इसलिए मैं जो भी कहूं, आप को मानना पड़ेगा वरना आपको बर्बाद कर दूंगी।
शिक्षक देवेंद्र यादव ने बताया कि प्रबंधक महोदय ने मीटिंग में ही मेरे ऊपर निराधार आरोप लगाते हुए मुझे जलील भी करती रहीं। यही नहीं, मेरे परिवार के सदस्यों को भी मां-बहन की गाली देकर अपमानित किया। शिक्षक ने डीआईओएस सहित अन्य अधिकारियों से कहा कि विद्यालय में इस तरह की हुई घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद है। शिक्षक ने बताया कि आए दिन मेरे ऊपर ऐसे ही विद्यालय की प्रबंधक महोदया द्वारा आरोप लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह से कुछ अभिभावकों से मेरे खिलाफ शिकायत कराकर शिकायत रची गई। बाद में उन्हीं अभिभावकों ने कहा कि मैं पढ़ाता हूं।
पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे रही प्रबंधिका
मुराई बाग स्थित भागीरथी इंटर कॉलेज कभी क्षेत्रीय लोगों के लिए शिक्षा का प्रमुख केंद्र हुआ करता था। यह विद्यालय क्षेत्रीय जनता के लिए शिक्षा की अलख का प्रमुख केंद्र हुआ करता था। शिक्षा का प्रमुख केंद्र रहा यह विद्यालय अब प्रबंधक की हठधर्मिता से युद्धक्षेत्र में बदल चुका है। इस विद्यालय में कानपुर से आने वाली प्रबंधक महोदया आए दिन शिक्षकों पर ऐसे-ऐसे आरोप लगवाया करती है, जिसे यहां का माहौल पूरी तरह से बदल गया है। विद्यालय में इस तरह के माहौल की वजह से क्षेत्रीय लोगों ने अपने बच्चों के नाम विद्यालय से कटवा लिए हैं। कभी हजारों में रहने वाली इस विद्यालय की छात्र संख्या अब सैकड़ों में आ गई है। यही नहीं, इस विद्यालय में अब बच्चों के साथ में ही शिक्षकों से भी पैसे की वसूली की जाती है। विद्यालय में इस तरह के माहौल से अब शिक्षक भी काफी परेशान है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.