लखनऊ। ट्रैफिक विभाग ने वाहनों के बढ़ते लोड को देखते हुए अर्जुनगंज से अहिमामऊ तक फ्लाईओवर का प्रस्ताव बनाकर शासन के समझ प्रस्तुत किया है। यह प्रस्ताव पिछले महीने शासन को भेजा गया है। इसके अतिरिक्त लखनऊ में आने वाले छह हाइवे को जोड़ने वाली सड़कों के निर्माण और चौड़ीकरण के साथ लिंक रोड बनाने का भी जिक्र किया गया है। जिससे ट्रैफिक का लोड कम होगा और लिंक रोड से भी वाहन आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे।

‘अर्जुनगंज और अहिमामऊ में ओवरब्रिज के निर्माण से पब्लिक को काफी राहत मिलेगी। शहीद पथ पर भी ट्रैफिक का लोड कम हो जाएगा। शासन को प्रस्ताव बनाकर भेजा है, स्वीकृति की पूरी उम्मीद है।’ -चारू निगम, डीसीपी ट्रैफिक लखनऊ

सुल्तानपुर रोड पर शहीदपथ चौराहे (अहिमामऊ) से एचसीएल सीजी सिटी तक 3 किलोमीटर दायरे में कोई भी कट नहीं है। इसके लिए ट्रैफिक विभाग एनएचआई को भी लिख चुका है। सर्विस लेन भी नहीं है, जिससे यहां की 20 हजार से अधिक आबादी प्रभावित है। जिसे उलटा घूमकर आना पड़ता है। इसके चलते यहां दुर्घटनाओं का आंकड़ा भी भी बढ़ता जा रहा है। अर्जुनगंज से अहिमामऊ तक फ्लाईओवर बनने से पब्लिक को राहत मिलेगी।

वीआइपी मूवमेंट के समय होगी सुविधा

सोमनाथ द्वार से सुलतानपुर रोड पर शहीद पथ के लिए मुड़ते हैं। आगे सात किलोमीटर तक सिंगल रोड है। आगे एयरपोर्ट तक अक्सर वीआइपी मूवमेंट भी रहता है। जिससे भीषण जाम रहता है। ओवरब्रिज के निर्माण से इस समस्या से भी निजात मिलेगी।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के चलते निर्णय

एडीसीपी सुरेश चंद्र रावत ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बन रहा है, जब यह शहीद पथ से कनेक्ट होकर चालू हो जाएगा तो शहीद पथ पर और ट्रैफिक लोड बढ़ जाएगा। बनारस, आजमगढ़, जौनपुर, सुल्तानपुर से लखनऊ आने-जाने वाले ट्रैफ़िक का लोड भी शहीद पथ पर रहता है। अहिमामऊ से अर्जुनगंज तक फ्लाईओवर के निर्माण के बाद इसी रुट से आगे सुल्तानपुर रोड तक एलिवेटेड रोड इससे ट्रैफिक निकाला जा सकेगा, जिससे शहीद पथ पर ट्रैफिक का लोड कम हो जाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.