लखनऊ। प्रदेश में कोरोना का कहर बना हुआ है।  राजधानी में गुरुवार को एक दिन में सर्वाधिक कोरोना के मामले सामने आए हैं।  यह अब तक का एक दिन में सबसे बड़ा आकड़ा है। गुरुवार को  308 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही शहर में कुल संक्रमितों की संख्या 3,156 पर पहुंच गई। इसमें एक से 16 जुलाई तक 1909 केस पाए गए हैं। उधर, गुरुवार को राजधानी में पूर्व मंत्री समेत छह लोगों की कोरोना से मौत हो गई। ऐसे में शहर में मृतकों की संख्या 43 हो गई। वहीं, 62 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया।

इंदिरानगर में वायरस का प्रकोप

इंदिरानगर में वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। चार मरीजों से अधिक यहां मौत हो चुकी है। वहीं पचास से अधिक मरीज संक्रमित पाए जा चुके हैं। गुरुवार को 10 नए मरीज पाए गए। इसके अलावा गोमती नगर विस्तार में तीन, विकासनगर में तीन, आशियाना में आठ, निरालानगर में एक, कैंट में चार, मॉडल हाउस में दो, अलीगंज में 12, कल्याणपुर में दो, राजेंद्र नगर में तीन, सुलतानपुर रोड का एक, उदयगंज का एक, खदरा में दो, रिवर बैंक कॉलोनी में एक, लालकुआं में दो, मानस नगर में दो, चिनहट में चार, हजरतगंज में चार, जानकीपुरम में चार, उतरेठिया में एक, फैजाबाद रोड के दो, राजाजीपुरम में पांच, बालागंज में तीन, एलडीए कॉलोनी कानपुर रोड के पांच, आलमबाग के पांच, आइआइएम रोड के दो, सीतापुर रोड के तीन, पुराना हैदराबाद के एक, रायबरेली रोड के दो, कल्याणपुर के चार, गोमती नगर के नौ, पूरब गांव का एक, पीरनगर के तीन, मेहंदीगंज का एक, मवैया का एक, सुशांत गोल्फ सिटी के दो, गुडंबा के तीन, वृंदावन के दो, हुसैनाबाद के एक, कैसरबाग के एक, ठाकुरगंज के दो, सुंदर बाग के एक, शारदा नगर के एक, टिकैतगंज के एक, चौक के चार, कृष्णानगर के तीन, पारा के चार, मोहनलालगंज के तीन, मडिय़ांव के चार मरीज संक्रमित पाए गए हैं।

73 कंटेनमेंट जोन हटाए गए

शहर के 73 इलाकों को कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया गया है। वहीं 68 नए इलाके शामिल किए गए हैं। गुरुवार को 973 संदिग्ध लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए।

डिप्टी मेयर को कोरोना, नगर आयुक्त निगेटिव

बलरामपुर अस्पताल में गुरुवार को कई संदिग्ध मरीजों की जांच हुई। निदेशक डॉ. राजीव लोचन के मुताबिक, डिप्टी मेयर रजनीश गुप्ता में वायरस की पुष्टि हुई। वहीं नगर आयुक्त इंद्रमणि की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

लोहिया हॉस्पिटल ब्लॉक में 20 बेड का ICU शुरू

लोहिया संस्थान के हॉस्पिटल ब्लॉक में गंभीर मरीजों का इलाज आसान मिलेगा। यहां 20 बेड का नया आइसीयू शुरू किया गया है। इसमें 10 बेड पर वेंटिलेटर होंगे। लोहिया हॉस्पिटल ब्लॉक में करीब 500 बेड हैं। वहीं, 45 बेड की इमरजेंसी है। इसमें गुरुवार को 20 बेड का आइसीयू शुरू किया गया। ऐसे में इमरजेंसी में आने वाले गंभीर मरीजों को वेंटिलेटर के िलए भटकना नहीं होगा। मरीजों की भर्ती शुरू कर दी गई है। इस दौरान कार्यवाहक निदेशक डॉ. नुजह हुसैन, सीएमएस डॉ. राजभटनागर, प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह मौजूद रहे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.