लखनऊ। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और बारिश के मौसम में संचारी रोगों की आहट के बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की ओर से इन पर काबू पाने के लिए लागू किया गया 55 घंटे का प्रदेशव्यापी प्रतिबंध शुक्रवार रात 10 बजे से लागू हो गया। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि बंदी के दौरान पुलिस को शासन के आदेशों का सख्ती से अनुपालन कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। निर्देशों का उल्लंघन करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

सोमवार सुबह पांच बजे तक घोषित इस प्रतिबंध के दौरान शनिवार और रविवार को प्रदेश के सभी कार्यालय तथा शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में बाजार, हाट, गल्ला मंडी और व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि बंद रहेंगे। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवा समेत आवश्यक सेवाओं और वस्तुओं की आपूर्ति इस दौरान जारी रहेगी। इन सेवाओं से जुड़े कार्मिकों और डोर स्टेप डिलीवरी से जुड़े लोगों के आने-जाने पर कोई रोक नहीं होगी। शनिवार और रविवार को धार्मिक स्थल भी पहले की तरह खुले रहेंगे। रेलवे और हवाई सेवाएं जारी रहेंगी। रेल से आने वाले यात्रियों के आवागमन के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की ओर से बसों की व्यवस्था की जाएगी। इन बसों को छोड़कर उत्तर प्रदेश रोडवेज सेवाओं का प्रदेश के अंदर आवागमन प्रतिबंधित रहेगा।

हवाई अड्डों से यात्री अपने गंतव्य को जा सकेंगे। माल की ढुलाई करने वाले वाहनों का आवागमन भी जारी रहेगा। राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों के किनारे स्थित पेट्रोल पंप पर ढाबे खुले रहेंगे। बड़े निर्माण कार्य भी जारी रहेंगे। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सभी औद्योगिक इकाइयां भी यथावत चालू रहेगी बशर्ते उनमें शारीरिक दूरी और स्वास्थ्य संबंधी प्रतिबंधों का कड़ाई से अनुपालन हो। सभी औद्योगिक इकाइयों में कोविड हेल्प डेस्क भी अनिवार्य रूप से संचालित होंगी। कोविड 19 महामारी पर काबू पाने को विशेष स्वच्छता अभियान चलाने के मकसद से यकायक घोषित की गई इस बंदी ने लोगों के जेहन में लॉकडाउन की यादें ताजा कर दी।

बाजारों में अपेक्षाकृत ज्यादा भीड़ भाड़ : जरूरी सामान की खरीदारी के लिए बाजारों में अपेक्षाकृत ज्यादा भीड़ भाड़ दिखी। बंदी के लंबा खिंचने की आशंका में लोगों ने उसी हिसाब से खरीददारी भी की। बंदी को देखते हुए शुक्रवार दोपहर से लोग अपने घरों को जाने के लिए बसों में सवार होते दिखे। बसों के इंतजार में सड़कों के किनारे जगह जगह लोगों के जत्थे दिखाई दिए।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.