vikas dude says i am not kill co devendra mishra
उज्जैन। गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद अब उससे पूछताछ की जा रही है। आज उज्जैन न्यायालय में उसकी गिरफ्तारी के बाद कानपुर यूपी पुलिस लेकर आ रही है। वह कानपुर स्पेशल प्लेन से आ रहा है। यूपी पुलिस उसे प्लेन से इसलिए ला रही है ताकि रास्ते में वह कहीं से भी फरार न हो सकें या फिर अन्य कोई बात हो सकती है। आज पुलिस से पूछताछ के दौरान उसने सीओ देवेंद्र मिश्रा के बारे में बहुत कुछ कहा है। उसने सीओ देवेंद्र मिश्रा के बारे में कहा कि मैंने सीओ को नहीं मारा है। मेरे साथियों ने सीओ देवेंद्र मिश्रा को मारा है। उन्होंने कहा कि सीओ मेरे मामा के मकान के आंगन में मारा गया है। उसके पैर पर सबसे पहले वार किया गया था। उसके पैर पर वार करने की असली वजह यह थी कि मुझे पता चला था कि वो बोलता है कि विकास का एक पैर गड़बड़ है, दूसरा भी सही कर दूँगा। इसकी वजह से हमारे साथी उससे नाराज थे। उन्होंने कहा कि सीओ का गला नहीं काटा गया था, गोली पास से सिर मे मारी गई थी। उन्होंने बताया कि एक कमरे में एकत्रित किए गए पुलिसकर्मियों को जिंदा चलाने की कोशिश थी। उसने बताया कि लाशों को एक जगह इकट्ठा किया था, लेकिन वे ऐसा नहीं कर पाया। उसने बताया कि कई पुलिसवालों से उसका कॉन्टैक्ट्स था। उसने बताया कि कुएं के पास में पांच पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक करके इसलिए रखा गया था कि ताकि जलाकर सबूत को नष्ट किया जा सकें, लेकिन हम लोग ऐसा नहीं सकें।
विकास दुबे ने यह भी बताई बातें
– देवेंद्र मिश्र से मेरा नहीं बनती थी। कई बार वो मुझसे देख लेने की धमकी दे चुके थे। पहले भी बहस हो चुकी थी।
– चौबेपुर एसओ विनय तिवारी ने भी बताया था कि सीओ तुम्हारे खिलाफ है।
– लिहाजा मुझे सीओ पर गुस्सा था।
– सीओ को सामने के मकान में मारा गया था।
– मैंने नहीं मारा सीओ को। लेकिन मेरे साथ के आदमियों ने दूसरी तरफ के आहाते से कूदकर मामा के मकान के आँगन में मारा था।
– पैर पर भी वार किया था। क्योंकि मुझे पता चला था कि वो बोलता है कि विकास का एक पैर गड़बड़ है। दूसरा भी सही कर दूँगा। सीओ का गला नहीं काटा था, गोली पास से सिर मे मारी गयी थी इसलिये आधा चेहरा फट गया था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.