भारतीय जनता पार्टी (BJP) की राष्ट्रीय टीम में ‘एक व्यक्ति, एक पद’ के सिद्धांत पर अमल किया जा सकता है। इसकी घोषणा जल्द होने वाली है। इतना ही नहीं राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अपनी नई टीम में युवाओं को मौका दे सकते हैं। साथ ही वैंकेया नायडू, अरुण जेलटी, सुषमा स्वाराज, अनंत कुमार की जगह नए चेहरे को मौका दिया जा सकता है।

नई टीम में काफी बदलाव होने की संभावना है। इसमें युवाओं को ज्यादा तरजीह दी जाएगा। साथ ही जो नेता संगठन में काम करेंगे वे सरकार में शामिल नहीं होंगे। ऐसे मं कुछ नेताओं को संगठन से सरकार में भेजा जा सकता है और कुछ नेता सरकार से संगठन में भी आएंगे।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को पार्टी की कमान संभाले करीब चार महीने हो चुके हैं, लेकिन अभी तक उनकी टीम सामने नहीं आई है। इसकी एक वजह कोरोना रहा, जिसने सारी व्यवस्थाओं को बदल दिया। अब संगठन को सुचारू ढंग से चलाने के लिए तेजी लाई जा रही है। पीर्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, राष्ट्रीय टीम का खाका तैयार हो चुका है और इसे जल्द ही जारी किया जाएगा।

राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ नया केंद्रीय संसदीय बोर्ड और कार्यकारिणी की घोषणा की जाएगी। संकेत हैं कि संगठन में संविधान के अनुसार पद भरे जाएंगे। इस बारे में स्थिति साफ नहीं है कि पदाधिकारियों में 33 फीसदी महिलाओं को शामिल किया जाएगा या नहीं। हालांकि यह बात साफ कर दी गई है कि संगठन के पास कई युवा नेता हैं और ‘एक व्यक्ति, एक पद’ के सिद्धांत पर अमल किया जाएगा।

पार्टी के संसदीय बोर्ड में अभी बड़े बदलाव होंगे। संसदीय बोर्ड में चार पद रिक्त हैं। इनमें वेंकैया नायडू उपराष्ट्रपति बन चुके हैं, जबकि अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और अनंत कुमार का निधन हो चुका है। ऐसे में नए संसदीय बोर्ड का स्वरूप काफी बदला हुआ होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.