उत्तर प्रदेश सरकार की कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम में कोविड-19 के नियमों के साथ में काम किया जा रहा है। यहां पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के निर्देश में निर्माण कार्यों में मितव्ययता, गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता का अनुपालन अपनी साख के अनुरूप किया जा रहा है। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि इस चालू वित्तीय वर्ष में प्रदेश के अन्दर 45 विभागों के 1441 कार्य प्रगति में चल रहे हैं और अन्य प्रदेशों में भी निगम की तरफ से 494 कार्य कराये जा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि चालू वित्तीय वर्ष में 4500 करोड़ रुपये के कामों का सम्पादन करने का लक्ष्य रखा गया है। आज उन्होंने एक बार फिर से अधिकारियों को कार्यों में अपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश दिये हैं। बता दें, राजकीय निर्माण निगम में मुख्यालय स्तर पर एक केन्द्रीय प्रयोगशाला भी स्थापित की जा चुकी है, जिसके द्वारा समय-समय पर औचक निरीक्षण कर सैम्पल टेस्टिंग का कार्य कराया जाएगा।
आज डिप्टी सीएम ने आधुनिक पर्यवेक्षण प्रणाली के माध्यम से मुख्यालय द्वारा प्रभावी समीक्षा व अनुश्रवण किये जाने के निर्देश दिये हैं। बता दें इस समय विभाग में ई-टेण्डरिंग/ई-प्रोक्योरमेन्ट व्यवस्था द्वारा निर्माण कार्यों का सम्पादन कराया जा रहा है। बता दें, यूपी सरकार की उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम की कुशल प्रशासनिक व्यवस्था के लिए 20 कार्यकारी अंचलों में विभाजित किया गया है, जिसके अन्तर्गत 102 कार्यकारी इकाईयां इस समय काम कर रही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.