neet 2020 exams plea on neet exam postponement centres filed in sc

देशभर में फैले कोरोना के प्रभाव की वजह से हर कोई अपने को लेकर चिंतित है। वहीं, शैक्षणिक सत्र में देरी होने की वजह से अब परीक्षाओं को कराने की तैयारी की जा रही है। मानव संसाधन मंत्रालय भी इसी माह देश की दो महत्वपूर्ण परीक्षाओं को कराने जा रहा है। इसमें पहली नीट और दूसरी जेईई एडवांस की परीक्षा है। जुलाई माह के अंतिम सप्ताह से शुरू होने जा रही नीट की परीक्षा (NEET Exam 2020) की परीक्षा को लेकर अभिभावक चिंतित दिख रहे हैं।अभिभावकों ने देश भर में फैली महामारी कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण का देखते नीट की परीक्षा को स्थगित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। नीट परीक्षा के उम्मीदवारों में मिडिल ईस्ट के देशों में रह रहे पैरेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है। इन देशों में रहने वाले लोगों ने याचिका दाखिल करके सरकार से कहा है कि कोविड के मद्देनजर मध्य पूर्व के देशों में परीक्षा केंद्र स्थापित करने या फिर परीक्षा को स्थगित करने की अपील की है। उनकी तरफ से कहा गया है कि ऐसे हालात में उनके देशों में ही परीक्षा आयोजित की जाए, अभिभावकों का कहना है कि अगर यह संभव नहीं है, तो फिर परीक्षा को स्थगित कर दिया जाए।बता दें कुछ दिनों पहले ही केरल उच्च न्यायालय में इसी तरह की याचिका को खारिज कर दिया गया था। अब कोरोना वायरस के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए नीट परीक्षा को स्थगित करने की मांग अभिभावकों ने की है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व में सीबीएसई बोर्ड की होने वाली परीक्षाओं को स्थगित करने का आदेश दिया है। ऐसे में कहा जा रहा है कि नीट परीक्षा को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट अभिभावकों को राहत दे सकता है।

26 जुलाई को होनी है नीट की परीक्षा

कोरोना वायरस की वजह से अप्रैल माह में होने वाली परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। मानव संसाधन मंत्रालय ने इस परीक्षा को 26 मार्च से आयोजित करने की बात कहीं थी। नीट यूजी परीक्षा MBBS/BDS पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अब परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित की जाएगी। नीट परीक्षा को पूरे देश के करीब 15 लाख से अधिक अभ्यर्थी देने जा रहे हैं। लेकिन देश में कोरोना वायरस का लगातार खतरा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में अब परीक्षा स्थगित करने की मांग अभिभावकों ने की है। इसके पहले इंडिया वाइड पेरेंट्स एसोसिएशन ने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को एक पत्र लिखकर देश की दोनों ही महत्वपूर्ण परीक्षाओं नीट और जेई मेन को स्थगित किए जाने की मांग की है। इस संघ ने दोनों ही मंत्रियों को पत्र भेजकर अवगत कराया था कि आखिर क्यों परीक्षा को नहीं कराया जाना चाहिए। संघ ने लगभग 15 कारणों को सूचीबद्ध भी किया था।

neet 2020 exams, neet plea, neet exam postponement, supreme court, jee mains,

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.