लखनऊ। पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास के निकट गोल्फ लिंक अपार्टमेंट के सामने से शाहनवाज़ आलम को सोमवार की रात अचानक उठा लिया। इसी तरह आशीष अवस्थी को भी पुलिस थाने उठाकर ले गई। आशीष अवस्थी यूपीसीसी के सोशल मीडिया का काम देखते हैं। पुलिस ने आशीष अवस्थी की गिरफ्तारी की अबतक जानकारी नहीं दी है। जब इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वॉयरल हुआ जिसमें सादे कपड़ों में यूपी पुलिस बोलेरो गाड़ी से शाहनवाज आलम को ले जाती हुई दिख रही है। इस बात की सूचना यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू और कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा को मिली तो वे अपने समर्थकों के साथ हजरतगंज कोतवाली पहुंच गए। देखते ही देखते शहरभर से कांग्रेस कार्यकर्ता वहां जमा हो गए। यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम की रात में हुई गिरफ्तारी से भड़के कांग्रेसियों ने थाने का घेराव किया और हंगामा काटा। अपने नेताओं को छुड़ाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया। इसी दौरान थाने पर भारी पुलिस बल बुला लिया गया। कोतवाली के अंदर हल्ला हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने मामले को शांत करने की कोशिश की लेकिन वहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तादाद ज्यादा थी। जब पुलिस के समझाने पर भी जब वे नहीं हटे तो पुलिस ने लाठियां भांजकर उन्हें मौके से खदेड़ा। पुलिस ने हालात को काबू में करने लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया। लाठीचार्ज के बाद कांग्रेस के कार्यकर्ता वहां से भाग गए।

देर रात कांग्रेस नेता शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए लखनऊ पुलिस ने एक बयान जारी किया है। डीसीपी सेंट्रल दिनेश सिंह ने कहा कि दिनांक 29-6-2020 को शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी हुई है, जो कि कांग्रेस के पदाधिकारी हैं। पहले इनके खिलाफ साक्ष्य नहीं थे, लेकिन अब सबूत मिलने के बाद इन्हें पुलिस ने हिरासत में लिया है। एसीपी हजरतगंज की टीम ने शाहनवाज आलम को सोमवार रात हिरासत में लिया और उनसे पूछताछ जारी है। पुलिस ने कहा कि मुकदमा अपराध संख्या 600/19 के तहत 19-12-2019 को सीएए और एनआरसी को लेकर जो प्रोटेस्ट हुआ था, उस घटना में इनका नाम पूर्व से प्रकाश में आया था। जिसकी साक्ष्य संकलन की प्रक्रिया जारी थी। पर्याप्त साक्ष्य प्राप्त होने के बाद उनको आज गिरफ्तार किया गया है। आगे संवैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

प्रदर्शन करेगी कांग्रेस
इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि सरकार डरी हुई है, और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को झूठे मुकदमे में फंसाकर जेल भेज रही है। अजय कुमार लल्लू ने कहा कि अगर पुलिस इन्हें रिहा नहीं करती है तो मंगलवार को कांग्रेस जोरदार प्रदर्शन करेगी।

शाहनवाज आलम के घर से हुई गिरफ्तारी
शाहनवाज आलम को सोमवार रात 8 बजे तब गिरफ्तार किया गया, जब वे कांग्रेस मुख्यालय से अपने घर पहुंचे ही थे। हज़रतगंज पुलिस ने 19 दिसंबर 2019 को लखनऊ में सीएए के विरोध में हुई हिंसा और आगजनी के मामले में शाहनवाज आलम को गिरफ्तार किया है।

प्रियंका गांधी के करीबी है शाहनवाज आलम
कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शाहनवाज आलम कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के काफी करीबी माने जाते हैं। वे उनकी कोर टीम का हिस्सा भी हैं। ऐसे में कांग्रेस यूपी पुलिस के इस कदम से खासी नाराज है। यूपी कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू सिंह ने इस बारे में कई ट्वीट भी किए हैं और सरकार को लाठीचार्ज और शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी पर खरी-खोटी सुनाई है।

सीएएए हिंसक प्रदर्शनों पर सख्त है सरकार
योगी सरकार 19 दिसंबर 2019 को हुए हिंसक प्रदर्शन पर कार्रवाई को लेकर काफी सख्त है। इस दौरान परिवर्तन चौक पर हुई आगजनी और हिंसा के मामले में पुलिस ने हाल में चार्जशीट भी दाखिल की है। कुछ दिनों पहले इसी आगजनी के आरोपियों से सम्पति को हुए नुकसान की भरपाई के लिए पूरे शहर में पुलिस ने होर्डिंग्स भी लगवाई थीं, जो काफी चर्चित रहीं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.