मोदीपुरम के दौराला थाने की सकौती चौकी पर तैनात 45 वर्षीय सिपाही ने अपनी सर्विस राइफल इंसास से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। घटना देर रात करीब 1:15 बजे की है। सूचना पर पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंचे और घटनाक्रम जाना। पुलिस ने सिपाही का शव मोर्चरी पहुंचा दिया। उसके परिजनों को सूचना दी गई, जिस पर परिजन तड़के थाने पहुंच गए और जानकारी की।

बुलंदशहर के बीवी नगर निवासी हीरालाल पुत्र मूलचंद पुलिस में सिपाही थे। हीरालाल के परिवार में उनकी माँ शीश कौर, पत्नी बाला कौर और बड़ा बेटा हरेन्द्र, जितेंद्र, केशव के अलावा बेटी बलवंत और कुलवंत है। बेटी बलवंत की एक महीने पूर्व ही शादी तय हुई थी। जिसकी तैयारियां परिवार कर रहा था। पुलिस की माने तो करीब दो वर्ष से हीरालाल दौराला थाने की सकौती चौकी पर तैनात थे। सीओ दौराला के मुताबिक हीरालाल और एक होमगार्ड शनिवार रात में ड्यूटी पर थे। चौकी क्षेत्र में अपनी बीट पर गस्त करने के बाद सिपाही और होमगार्ड वापस चौकी पर पहुंचे। जहां सिपाही ने होमगार्ड से कमरे में चाय बनाने को कहा। उसके बाद दोबारा गश्‍त पर जाना था। होमगार्ड चाय बनाने कमरे में चला गया।

सीओ बोले पारिवारिक झगड़ा हो सकता है कारण

इसी बीच चौकी के बाहर कुर्सी पर बैठे सिपाही ने अपनी सर्विस राइफल इंसास को जमीन पर खड़ा कर अपने सिर में गोली मार दी। मौके पर ही सिपाही की मौत हो गई। गोली की आवाज सुनकर होमगार्ड और अंदर सो रहे पुलिसकर्मी बाहर भागे। खून से लथपथ सिपाही को देख सभी के होश उड़ गए। इंस्पेक्टर दौराला समेत आला पुलिस अफसरों को घटना की जानकारी दी गई। एसपी सिटी, सीओ दौराला फॉरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। जिसके बाद शव मोर्चरी पहुंचा दिया। इस मामले में सीओ दौराला जितेंद्र सरगम का कहना है कि अभी तक की पूछताछ में सिपाही ने पारिवारिक झगड़े में सुसाइड किया है। मृतक के परिजन भी पहुंच गए हैं। आगे की कार्रवाई चल रही है।

परिजनों में मचा कोहराम

बुलंदशहर के बीबी नगर के मोहल्ला जाटवान निवासी सिपाही हीरालाल द्वारा दौराला थानांतर्गत चौकी सकौती में गोली मारकर आत्महत्या किये जाने की सूचना पर परिजनों में कोहराम मच गया। कुछ लोग शव लेन रवाना हो गए है। शील स्वभाव वाले हीरालाल की आत्महत्या की सूचना से सभी हतप्रभ है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.