वेद प्रकाश सिंह
फिरोजाबाद। किसान के एक बेटे ने भारतीय वायु सेना में फाइटर पायलट बनकर अपने व परिवार के सपनों को साकार ही नहीं किया, देश रक्षा का संकल्प लिया है। एयरक्राफ्ट, लड़ाकू एवं जेट विमान से आसमान को चूमने और रॉकेट, गन, बोम्बिंग एवं हवाई कर्तबों में महारत हासिल करने वाला यह जांबाज अब देश की रक्षा के लिए अपग्रेडेड विमान मिग-29 उड़ाएगा।
भारतीय वायु सेना में फाइटर पायलट बना हेमंत मूल रूप से टूंडला के थाना नगला सिंघी के एक छोटे से गांव गदलपुरा निवासी है। वह दूरदर्शी व देशप्रेमी मुखिया हरनारायण सिंह (नेताजी) के पौत्र है तथा भारतीय वायु सेना से फ्लाइंग ऑफिसर के पद से 2018 में सेवानिवृत्त हुए नरोत्तम सिंह का बेटा है। वह अपने इस मुकाम पर पहुंचने का श्रेय अपने बाबा और पिता व ताऊ गुलाब सिंह को देता है।
परिवार से देशभक्ति की प्रेरणा पाकर हेमंत ने भारतीय वायु सेना में लड़ाकू जेट विमान का पायलट बनने का फैसला किया। हेमंत की प्रारंभिक शिक्षा भारतीय वायु सेना के विभिन्न केंद्रीय विद्यालयों में हुई। कक्षा 12वीं के बाद उन्होंने साल 2014 में एनआईटी में इंजीनियरिंग में दाखिला लिया।
उसी दौरान एनडीए की परीक्षा एवं एसएसबी तथा पीएबीटी टेस्ट पास कर जनवरी 2015 में एनडीए में प्रवेश लिया। प्रशिक्षण के प्रथम चरण में उन्होंने दिसंबर 2017 तक तीन साल का उत्कृष्ट विश्वस्तरीय एवं विशिष्ट फ्लाइंग प्रशिक्षण प्राप्त किया। उसकी इस कामयाबी पर क्षेत्रवासियों ने शुभकामनाएं एवं अभिनंदन करते हुए खुशी का इजहार किया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.