Baba-Ramdev-BTT-proposal-300x336चुनाव सर्वे भले ही भाजपा को सत्ता में ला रहे हों लेकिन असंतोष का ज्वालामुखी भाजपा में फूट रहा है। भाजपा के उम्मीदवारों की दूसरी सूची से सिर्फ बिहार बीजेपी में ही नाराजगी नहीं है, खबर है कि बाबा रामदेव भी बीजेपी से रूठे गए हैं। दरअसलए रामदेव भी बिहार से अपने कुछ चहेतों को टिकट दिलवाना चाहते थे, इनमें पाटलिपुत्र सीट से नवल किशोर यादव भी थे जिन्हें टिकट नहीं मिला। भाजपा ने इस सीट से नए-नए पार्टी में आए रामकृपाल यादव को मैदान में उतारा है। फेहरिस्त में अपने चहेतों का नाम न देखकर बाबा रामदेव नाराज बताए जा रहे हैं। योगगुरु ने भाजपा को समर्थन देने के मुद्दे पर अब नई शर्त रख दी है। रामदेव ने कहा कि अगले दो-तीन दिन में हम दोबारा विचार करेंगे कि बीजेपी और एनडीए को किन मुद्दों पर समर्थन दिया जाएण् हम लिखित में उनसे लेंगे और अगर उन्होंने दो-चार भी गलत कैंडीडेट खड़े कर दिए तो उनका विरोध तो हम करेंगे। गुरुवार को आई बीजेपी की दूसरी लिस्ट के बाद बिहार बीजेपी में असंतोष के सुर उठने लगे हैंण् गिरिराज सिंह बेगूसराय से टिकट न मिलने से नाराज हैंए तो अश्विनी चौबे को भागलपुर से टिकट न मिलने का गम हैण् वहीं मनपसंद सीट से टिकट न मिलने की आशंका से शत्रुघ्न सिन्हा और रामेश्वर चौरसिया भी दुखी बताए जा रहे हैं। शत्रुघ् न सिन्हा को पार्टी दिल्ली से लड़ाना चाहती है लेकिन वह पटना साहिब से लडऩे की बात पर अड़े हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.