अमेरिका में अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत और पुलिस के हाथों अन्य अश्वेत लोगों की हत्या के विरोध में चल रहे प्रदर्शनों की आंच शनिवार को न्यूयॉर्क से लेकर टुल्सा और लॉस एंजिलिस तक फैल गई। कई शहरों में हिंसा और लूटपाट पर काबू पाने के लिए पुलिस ने रबर और आंसू गैस के गोले दागे। अमेरिका के 17 शहरों से लगभग 1400 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इंडियानापोलिस में लगातार दूसरे दिन हुए प्रदर्शन के दौरान फायरिंग में एक व्यक्ति मौत हो गई। अमेरिका में उग्र प्रदर्शनकारियों का समर्थन करने के लिए रविवार को लंदन और बर्लिन में रैलियां आयोजित की गईं।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका धुर वामपंथी संगठन अंतिफा की इन हिंसक प्रदर्शनों में भूमिका को देखते हुए उसे आतंकी संगठन घोषित करने पर विचार कर रहा है। फ्लॉयड की मौत के बाद देशभर में अचानक भड़के हिंसक प्रदर्शनों के लिए ट्रंप प्रशासन इसी अतिवादी संगठन को जिम्मेदार मान रहा है। अटॉर्नी जनरल विलियम पी बर्र ने भी एक बयान में कहा कि हिंसक घटनाएं अंतिफा और अन्य समान समूहों द्वारा भड़काई जा रही हैं और उनके साथ इसी के अनुरूप व्यवहार होगा।

न्‍यूयॉर्क में कई वाहन फूंके

न्यूयॉर्क शहर में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के कई वाहनों में आग लगा दी। कार्रवाई करते हुए पुलिस ने सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार किया है। अटलांटा, लॉस एंजिलिस, फिलाडेल्फिया, डेनवर, सिनसिनाटी, पोर्टलैंड, ओरेगन, लुइसविले, केंटकी सहित कई प्रमुख शहरों में कफ्र्यू के बावजूद रात भर हिंसक घटनाएं होती रहीं।

प्रदर्शनकारियों पर तीर-धनुष से हमला

साल्ट लेक सिटी में एक व्यक्ति ने प्रदर्शनकारियों पर तीर-धनुष से निशाना बनाया। इसके जवाब में भीड़ द्वारा उस पर हमला किया गया। लॉस एंजिलिस की गलियों में आगजनी की घटनाएं हुई। प्रदर्शनकारियों ने उत्तरी कैरोलिना में अमेरिकी झंडे को तोड़ दिया।

प्रदर्शनकारियों के साथ झड़पें

सोशल मीडिया पर पोस्ट वीडियो में प्रदर्शनकारी मैनहट्टन, टाइम स्क्वायर के फिफ्थ एवेन्यू स्थित ट्रंप टॉवर, कोलंबस सर्किल पर एकत्र होकर फ्लॉयड की मौत का विरोध करते दिखाई दे रहे हैं। एक वीडियो में न्यूयॉर्क शहर में अधिकारी प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज करते और उन्हें खदेड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। जबकि एक अन्य वीडियो में न्यूयॉर्क पुलिस विभाग की दो कारें प्रदर्शनकारियों की ओर बढ़ती दिखाई दी जो एक अवरोधक को हटा रहे थे और उस पर सामान फेंक रहे थे। यूनियन स्क्वायर के नजदीक एक बड़े वाहन को भी आग के हवाले करने की घटना सामने आई है।

हिंसा के लिए भड़काया

न्यूयॉर्क के मेयर बिल डी ब्लासियो ने ब्रूकलिन में हुए प्रदर्शन का हवाला देते हुए कहा कि कुछ लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए आए थे, लेकिन दूसरे कुछ लोगों ने उन्हें हिंसा के लिए भड़काया। उन्होंने कहा, ‘प्रदर्शन से संबंधित कुछ वीडियो देखे हैं। यह शहर की विचारधारा और मूल्यों का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। न्यूयॉर्क प्रांत के गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने कहा, ‘अमेरिका का इतिहास नस्लवाद और भेदभाव से भरा पड़ा है। यही सच्चाई है। इस आक्रोश और हताशा के पीछे यह बड़ी वजह है। मैं प्रदर्शनकारियों के साथ खड़ा हूं, लेकिन हिंसा किसी भी मसले का हल नहीं है।’

एक्टर केंड्रिक सैंपसन को पीटा

कुओमो ने कहा कि उन्होंने न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल से बात की है और प्रदर्शन के दौरान लोगों द्वारा की गई हिंसा और पुलिस द्वारा उठाए गए कदमों की स्वतंत्र जांच करने को कहा है। उधर, लॉस एंजिलिस में हुए एक प्रदर्शन में भाग ले रहे हॉलीवुड एक्टर केंड्रिक सैंपसन को पुलिस द्वारा पीटे जाने और रबर की बुलेट मारे जाने की बात सामने आई है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.