वाराणसी और आजमगढ़ में दुस्साहसिक अंदाज में पुलिस टीम पर हमला बोल दिया गया। वाराणसी में मारपीट की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। लाठी डंडे से किये गए हमले में दोरोगा और सिपाही गंभीर रूप से घायल हुए हैं। वहीं, आजमगढ़ में लॉकडाउन का पालन करने की नसीहत देने पर हमला कर दिया गया। यहां भी सिपाहियों को सीएचसी से जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

वाराणसी में जंसा थाना क्षेत्र के सिहोरवा गांव से रविवार की देर रात सन्नो देवी ने मोबाइल फोन पर सूचना दी कि देवर सूरज, प्रदीप और ससुर गोपीचंद्र, सास चंपा देवी, देवरानी राधा मेरी पिटाई कर रही हैं। महिला की शिकायत सुनकर दरोगा हरिशंकर यादव सिपाही संदीप के साथ घटनास्थल सिहोरवा पहुंच गये। घटनास्थल पर रन्नो के साथ लोग गाली-गलौज व मारपीट कर रहे थे।

पुलिस टीम ने दोनों पक्षों को काफी समझाने-बुझाने का प्रयास किया। परंतु लोग पुलिस की बात नहीं माने। पुलिस टीम जब रन्नो देवी की पिटाई करने वाले आरोपियों को थाने चलने के लिये कहा तो सब उग्र हो गये। मामला इतना तूल पकड़ा कि सूरज व प्रदीप के साथ उसके परिजनों ने पुलिस टीम पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया। दरोगा हरिशंकर यादव व सिपाही संदीप को लाठी-डंडे से पीटकर बुरी तरह घायल कर दिया। हमले से दरोगा के पैर व सिपाही के सिर में गंभीर चोटें आई हैं।

किसी तरह से पुलिस वालों ने थानाध्यक्ष जंसा को सूचना दी। सूचना पाते ही जंसा एसओ रामआशीष भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये और घायल दरोगा व सिपाही को लेकर इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंचे। एसओ ने बताया कि दरोगा की तहरीर पर सूरज, प्रदीप, गोपीचंद्र, चंपा देवी और राधा के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी हैं।

उधर आजमगढ़ ब्यूरो के अनुसार रानी की सराय थाना क्षेत्र के कोटिला बाजार में कांस्टेबल अमित पाल व रंजीत गुप्ता मोबाइल ड्यूटी पर थे। रात में सिपाही कोटिला बाजार में बब्लू यादव के मिठाई की दुकान पर पहुंचे तो वहां कई लोग मौजूद थे। सिपाहियों ने लॉकडाउन के पालन की नसीहत दी तो सभी ने हमला कर दिया। हमले में सिपाही रंजीत घायल हो गया। जबकि अमित ने घटना की सूचना थाने पर दी तो काफी संख्या में पुलिस फोर्स वहां पहुंच गयी। लेकिन तब तक आरोपी फरार हो गये।

सिपाही का स्वास्थ्य केन्द्र पर उपचार कराने के बाद जांच के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। रात में ही पीएसी बल बाजार में तैनात कर दी गई। सिपाही की तहरीर पर पुलिस ने जानलेवा हमला, महामारी, लॉकडाउन उल्लंघन समेत सरकारी काम में बाधा डालने आदि धाराओं में क्षेत्र के अल्लीपुर निवासी ग्राम प्रधान राजेश यादव पुत्र दयाशंकर, बब्लू यादव पता अज्ञात समेत एक दर्जन अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने आरोपी प्रधान की तलाश में उसके घर अल्लीपुर पहुंची लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

एसओ रामायण सिंह ने कहाकि शराब पीने से मना करने पर हमला किया गया। आरोपियो की तलाश हो रही है। शाम तक कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। आरोपी प्रधान के खिलाफ कई मुकदमे पहले से दर्ज है। वहीं प्रधान के परिजनों का कहना है कि पुलिस रात में ही घर पर आकर जेसीबी, क्रेटा वाहन को उठा ले गयी है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.