उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि प्रदेश में लगातार दलितों के ऊपर हिंसा बढ़ रही है। योगी आदित्यनाथ की सरकार में पिछले दो महीनों में दलितों के ऊपर हो रहीं हिंसा में इज़ाफ़ा हुआ है। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की दलित विरोधी सरकार में दलित समाज पर राज्य संरक्षण में हमले बढ़े हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि अयोध्या में बाल कटवाने गए एक दलित युवक की धार वाले हथियार से गला रेत कर हत्या कर दी गई। कन्नौज में भाजपा सासंद सुब्रत पाठक द्वारा तहसीलदार अरविंद कुमार के घर में घुसकर मारपीट की गई, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। रामपुर में एक सफाईकर्मी के साथ 5 लोगों ने मारपीट कर उसके मुंह में सैनिटाइजर का रासायनिक घोल डाल दिया, जिससे वह बेहोश हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई। लखीमपुर में गुड़गांव से अपने गांव लौटे दलित युवक को पुलिसकर्मी ने इतना बेरहमी से मारा कि उसने खुदकुशी कर ली।

आजमगढ़ में दबंगों द्वारा दलित मजदूर की हत्या के बाद परिवार को लाश दे आए और फिर धमकाते हुए बोले-कानूनी कार्रवाई करोगे तो आपका भी वहीं हाल होगा जो उसका हुआ। यूपी के मैनपुरी के ग्राम बीरपुर कलां मे दबंगों द्वारा उदयवीर पुत्र लालाराम के दरवाजे के सामने से समर का पानी फैला रहे थे रोके जाने पर दलितों के परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया गया। मथुरा मे थाना छाता के ग्राम बरौली मे दबंगों के द्वारा दलित परिवार के साथ मार-पीट व हत्या-प्रयास की घटना घटित करने के बावजूद भी पुलिस दबंगों को संरक्षण देकर उल्टा दलित पीड़ित पे हत्या-प्रयास का केस दर्ज किया है।

यूपी के सिकंदराबाद में दबंगों ने वाल्मीकि समाज के 13 वर्षीय युवक को बेरहमी से बांधकर मारा जिसके कारण अस्पताल में युवक ने दम तोड़ दिया।

हमीरपुर जिला, ब्लॉक सुमेरपुर, देवगांव की रहने वाली दलित समाज की बेटी को घर में घुस का दबंगो ने मारपीट की गई थी पुलिस कार्यवाही करने को तैयार नहीं थी उल्टा समझौता के लिए दबाव बना रही थी। हाल ही में कन्नौज में वाल्मिकी समाज की 9वीं कक्षा की छात्रा के साथ दुष्कर्म किया गया और धमकी दी गई, जिससे आहत होकर छात्रा ने आत्महत्या कर ली। उन्होंने कहा कि लम्बी लिस्ट है और यह सब  सरकारी संरक्षण में हो रहा है। हमने लगातार यह सवाल उठाया है और लड़ रहे हैं। लेकिन स्वघोषित दलितों की नेता मायावती जी की चुप्पी क्या साबित करती है। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  बृजलाल खाबरी ने कहा कि योगी सरकार में दलित समाज पर हमला बढ़ा है लेकिन बहन मायावती जी के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता है। प्रदेश में दलितों-वंचितों के खिलाफ हो रहे उत्पीड़न पर मायावती जी क्यों नहीं बोलती हैं?

उन्होंने कहा कि बहन मायावती और दलित विरोधी भाजपा के अंदरखाने समझौता हो गया है और मायावती जी भाजपा की अघोषित प्रवक्ता हैं। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ  चेयरमैन आलोक प्रसाद ने कहा कि पूरे प्रदेश में हम सेवा कर रहे हैं। बाहर से लौट रहे प्रवासी मजदूर भाइयों के लिए कांग्रेस पार्टी 40 जगहों पर स्टॉल्स लगाकर नाश्ता वितरित कर रही है। 22 जिलों में हम रसोईघर चला रहे हैं। 67 लाख लोगों तक हमने मदद पहुंचायी है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष को जनसेवा करने के कारण जेल में डाल दिया गया है। कई दर्जन नेताओं के ऊपर फ़र्ज़ी मुकदमें दर्ज किए गए हैं।

पुलिस से मुठभेड़ में 50 हजार रुपये का इनामी लुटेरा गिरफ्तार

पुलिस आयुक्त लखनऊ सुजीत कुमार पांडेय के नेतृत्व में पुलिस टीम पिछले तीन दिनों से लगातार बदमाशों के साथ मुठभेड़ करके शातिर अपराधियों को गिरफ्तार कर अपने नंबर बढ़ाने में जुटी हुई है। तीन दिनों में पुलिस ने चार खूंखार बदमाशों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। पुलिस अधिकारियों और सरकार की नजरों में नंबर बढ़ाने की होड़ में लगी पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने हुसैनगंज, सरोजनीनगर के बाद इंदिरानगर थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े मुठभेड़ के दौरान एक पचास हजार रुपये के इनामी बदमाश को गिरफ्तार करने का दावा किया है। मुठभेड़ के दौरान अपराधी पैर में गोली लगने से घायल हो गया। पुलिस ने बदमाश के पास से यूएसए मेड पिस्टल व बाइक बरामद की है। पुलिस टीमों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया और आगे की क़ानूनी कार्रवाई की। मुठभेड़ की सूचना मिलते ही मौके पर कमिशनर, डीसीपी उत्तरी शालिनी के साथ एसीपी क्राइम सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। कमिश्नर ने मुठभेड़ में शामिल पुलिस टीम को उत्साहवर्धन के लिए 50 हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।

मेड इन यूएसए पिस्टल का करता था घटनाओं में इस्तेमाल

पुलिस आयुक्त ने बताया कि पिछले कई सालों से लगातार पुलिस को इस शातिर अपराधी की तलाश थी। अपराधियों की सूची में ये शीर्ष तीन में शामिल था। उन्होंने कहा कि जब लखनऊ जिला पुलिस हुआ करती थी तभी से ये शातिर अपराधी पुलिस को छका रहा था। लखनऊ और इसके आसपास के जिलों की पुलिस भी इससे परेशान हो चुकी थी। कमिश्नर ने बताया कि अपराधी किस किस्म का था इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वह घटनाओं में मेड इन यूएसए पिस्टल का इस्तेमाल करता था।

कई सर्राफा कारोबारियों के यहां कर चुका था लूट

डीसीपी उत्तरी शालिनी ने बताया कि शनिवार को इंदिरा नगर थाना क्षेत्र में स्थित पिकनिक स्पॉट रोड पर पुलिस और 50,000 रुपये के इनामी बदमाश पप्पू जावेद के बीच मुठभेड़ हुई। पुलिस की गोली लगने से अभियुक्त घायल हो गया। पुलिस ने इस एनकाउंटर को क्राइम ब्रांच की टीम के साथ मिलकर अंजाम दिया। पकड़ा गया अभियुक्त पप्पू जावेद पिछले एक साल से पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। पुलिस का दावा है कि लुटेरे जावेद ने महानगर में आटा व्यवसाई से लूट, कृष्णानगर में आर के ज्वेलर्स के यहां लूट और गोसाईगंज में भी दिनदहाड़े दिन ज्वेलर्स के यहां लूट की वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस अभियुक्त की क्रिमिनल हिस्ट्री के बारे में पता लगा रही है।

दिल्ली से आकर लखनऊ में वारदात करके हो जाता था फरार

मुठभेड़ में पकड़ा गया बदमाश जावेद उर्फ पप्पू दिल्ली से आकर लखनऊ में आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर फरार हो जाता था। लेकिन शनिवार को वाहनों की चेकिंग के दौरान पुलिस को उस पर शक हुआ। जब पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया तो आरोपी ने चेकिंग कर रही पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी, लेकिन पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक गोली जावेद के पैर में जा लगी और वह घायल होकर वहीं गिर पड़ा। जिसके बाद पुलिस ने उसे धर दबोचा। वांटेड अपराधी जावेद उर्फ पप्पू को गिरफ्तार करने वाली टीम में क्राइम ब्रांच के तेज तर्रार दरोगा अजय त्रिपाठी की टीम सब इंस्पेक्टर सुधीर अवस्थी, कांस्टेबल जीत सिंह और इन्स्पेक्टर इंदिरानगर धनन्जय पांडेय, सिपाही शमसाद, राजन की टीम के संयुक्त प्रयास से लखनऊ पुलिस को कामयाबी मिली।

दिनदहाड़े असलहे के बल पर महिला से लूट

लॉकडाउन के बीच आपराधिक घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। पुलिस जहाँ अपराधियों पर शिकंजा कस रही है वहीं बदमाश लगातार आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं। यूपी में बाइक सवार गैंग के उत्पात और आतंक को रोकने में पुलिस नाकाम दिख रही है। ताज़ा मामला मलिहाबाद थाना क्षेत्र रसूलपुर का है। जहां बेखौफ बदमाशों ने शनिवार को दिनदहाड़े एक महिला को लूटकर क्षेत्र में सनसनी मचा दी। सूचना पाकड़ पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

महिला ने पुलिस को बताया कि उसका मकान निर्माणाधीन है। उसके पास 20,000 रूपए था, जिसको लेकर वह सुबह सरिया खरीदने के लिए जा रही थी। वह जैसे ही मलिहाबाद थाना क्षेत्र रसूलपुर पहुंची तो पीछे से आए बाइक सवार दो बदमाशों ने उसकी कनपट्टी पर तमंचा लगाकर पैसे लूट लिए और फरार हो गए। पीड़िता का दावा है कि घटना को अंजाम देने वाले 6 बदमाशें में से पीड़ित ने तीन लोगों को पहचान लिया है। घटना की सूचना पाकर मौके वारदात पर सूचना पर पहुंची। मलिहाबाद पुलिस ने पहचान किए गए लोगों से पूछताछ कर रही है। इस दौरान पुलिसवालों से आरोपियों के पक्ष की महिलाओं ने अभद्रता की। फिलहाल पुलिस के छानबीन में अभी तक बदमाशों का कोई सुराग लग पाया है। इन्स्पेक्टर मलिहाबाद शियाराम वर्मा ने बताया कि पीड़िता के तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी गई है।

हत्या करने की फ़िराक में खड़े दो अपराधी गिरफ्तार

 चिनहट पुलिस ने हत्या की फिराक में घूम रहे दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पकड़े गए दोनों अभियुक्तों के पास से दो अवैध तमंचा और दो जिंदा कारतूस भी बरामद हुए हैं। पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए दोनों को जेल भेज दिया

पुलिस के मुताबिक, मुखबिर के जरिए सूचना मिली थी कि सोमेश्वर विहार कॉलोनी हरदा सिखेड़ा बीडीएस भट्ठा जाने वाले मार्ग पर राजू गुप्ता के प्लाट के पास हत्या के फिराक में घूम रहे दो शातिर अपराधी खड़े हैं। इस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और अभियुक्त विशेष रावत पुत्र राम सूरत रावत निवासी ग्राम हरदासीखेड़ा और पवन कुमार पुत्र मायाराम निवासी हरदासीखेड़ा को गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्तों के पास से दो अवैध तमंचा और दो जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में उपनिरीक्षक जयप्रकाश यादव, गिरीश चंद्र यादव, कांस्टेबल संदीप कुमार कनौजिया, नवीन कुमार, भूपेंद्र कुमार और रिक्रूट कांस्टेबल रवि कुमार की अहम भूमिका रही।

डीसीपी उत्तरी की टीम ने अन्तर्राज्यीय अपराधी को दबोचा

डीसीपी उत्तरी शालिनी के निर्देशन में अपराधियों की धरपकड़ के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत गाजीपुर पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने एक अंतर्राज्यीय शातिर लूट चोरी मादक पदार्थ तस्कर को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। अभियुक्त के पास से पुलिस की टीम ने एक 315 बोर का तमंचा और दो जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं।

प्रभारी निरीक्षक बृजेश सिंह ने बताया कि उप निरीक्षक विजय शंकर सिंह के साथ पुलिस टीम में हेड कांस्टेबल नागेंद्र सिंह क्राइम ब्रांच, कांस्टेबल राहुल गिरी क्राइम ब्रांच और कांस्टेबल प्रदीप चौधरी क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर अभियुक्त इरफान गाजीपुर आसिफ उर्फ बाबू घोसी पुत्र स्वर्गीय मक्का निवासी भेड़िया टीला कपूरथला चांदगंज को गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्त के खिलाफ 20 आपराधिक मुकदमे विभिन्न थाना क्षेत्रों में दर्ज हैं। अभियुक्त गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को उत्साहवर्धन के लिए 5000 रुपये का पुरस्कार दिया है।

आगजनी के आरोप में वांछित चल रहा शातिर अभियुक्त गिरफ्तार 

मोहनलालगंज पुलिस ने आगजनी के मुकदमे में वांछित चल रहे एक शातिर अभियुक्त को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। प्रभारी निरीक्षक जीडी शुक्ला के नेतृत्व में मोहनलालगंज पुलिस ने अभियुक्त नरेश उर्फ रामनरेश पुत्र स्वर्गीय  मोहनलाल निवासी ग्राम पटेहरा को कनकहा मोड़ के पास से गिरफ्तार किया है। अभियुक्त को गिरफ्तार करने में उपनिरीक्षक अभिषेक कुमार के साथ कॉन्स्टेबल विजय सिरोही की अहम भूमिका रही।

अवैध शराब के साथ मा-बेटा गिरफ्तार

आशियाना थाना क्षेत्र से उप निरीक्षक शैलेंद्र सिंह ने गश्त के दौरान अभियुक्त आशीष पुत्र गुरु प्रसाद निवासी ग्राम उसरी और राजरानी पत्नी गुरुप्रसाद उसरी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 20 लीटर अवैध कच्ची शराब और शराब बनाने के उपकरण बरामद किए हैं। पुलिस ने मां और उसके बेटे के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की है।

किशोरी से बलात्कार करने वाला गिरफ्तार

 सहादतगंज पुलिस ने किशोरी के साथ बलात्कार करने के आरोप में नामजद अभियुक्त को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को सआदतगंज थाने पर एक 16 वर्षीय किशोरी के संबंध में दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट का मुकदमा शिवकुमार के खिलाफ दर्ज कराया गया था। जिसकी जांच उपनिरीक्षक रमेश सिंह यादव कर रहे थे। जांच के दौरान मुकदमे के नामजद अभियुक्त को सुल्तानपुर गढ़ैया से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

फांसी लगाकर महिला ने की आत्महत

 गुडंबा थाना क्षेत्र में एक महिला ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घरवालों ने उसका शव फांसी के फंदे पर लटका देखा तो पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को फंदे से उतरवा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पुलिस ने बताया कि दिलशाद हुसैन पुत्र दिलदार निवासी ग्राम जबरी खुर्द पोस्ट अनुवादी कुर्सी बाराबंकी ने थाने पर सूचना देकर बताया कि उसकी बहन आशिया खातून की 2 साल पहले कबीर पुत्र बशीर निवासी ग्राम पेठा गुडंबा के साथ शादी हुई थी। बहन की ससुराल से उन्हें सूचना मिली कि उनकी बहन ने फांसी लगा ली है। उनकी मौत हो गई है। इस सूचना पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि आशिया खातून (30) ने घर के अंदर कमरे में लगे पंखे के कुंडे में लुंगी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली है। मृतका का पति प्रॉपर्टी का काम करता है।

स्कॉर्पियो की टक्कर से स्कूटी सवार की मौत

 राजधानी लखनऊ के गाजीपुर थाना क्षेत्र में एक तेज रफ्तार स्कॉर्पियो कार ने स्कूटी सवार को टक्कर मारकर मौत की नींद सुला दिया। राहगीरों की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक, आयुष शर्मा (24) पुत्र स्वर्गीय अशोक शर्मा निवासी 34 नवल किशोर रोड हजरतगंज अपनी स्कूटी से सेक्टर-25 से मुंशी पुलिया लिंक रोड से जा रहे थे। तभी एक सफेद रंग की तेज रफ्तार स्कॉर्पियो कार के चालक नाम पता अज्ञात ने मुंशी पुलिया की तरफ से आते समय एलआईसी ट्रेनिंग सेंटर ऑफिस सेक्टर-21 के सामने उनकी स्कूटी में टक्कर मार दिया। जिससे आयुष गंभीर रूप से घायल हो गए। इलाज के लिए उनको एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां उपचार के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। विवाहिता की मौत की सूचना मिलते ही उसके घर में कोहराम मचा हुआ है।

ट्रांसफर पोस्टिंग मामले में दो और अभियुक्त गिरफ्तार

 यूपी एसटीएफ ने अधिकारियों की ट्रान्सफर पोस्टिंग कराने के नाम पर पैसा ऐंठने वाले गिरोह के दो और अभियुक्तों को विभूतिखंड इलाके से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। बता दें कि डीलिंग का एक कथित ऑडियो वायरल होने के मामले में शनिवार को एसटीएफ की टीम ने गौरीकान्त दीक्षित पुत्र गोविन्द नारायण दीक्षित निवासी फ्लैट नं. 1109 के डब्लू श्रृष्टि अपार्टमेन्ट राजनगर एक्सटेन्सन गाजियाबाद मूल निवासी ग्राम अमौली कला, थाना रामनगर बाराबंकी और कमलेश कुमार सिंह पुत्र कल्पनाथ सिंह निवासी डीहा, थाना जहानागंज, जिला आजमगढ़, हाल पता 2/21 विजयंत खण्ड थाना विभूतिखण्ड को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि एसटीएफ ने शुक्रवार को इसी मामले में पीयूष अग्रवाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

सीएम को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले का नहीं लगा सुराग, एसटीएफ ने महाराष्ट्र में डाला डेरा

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी के मामले में जांच में जुटी टीमे अभी आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी हैं। आरोपित की तलाश में एसटीएफ की एक टीम ने महाराष्ट्र में डेरा डाला है। धमकी भरा संदेश यूपी 112 के हेल्पडेस्क के जिस व्हाट्सएप नंबर से आया था, वह (8828453350) महाराष्ट्र का है। अभी सफलता नहीं मिली है। इसके अतिरिक्त सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट किया गया है।

मुख्यमंत्री की सुरक्षा में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। इस मामले में गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 505(1)/(b),506 और 507 के तहत इंस्पेक्टर धीरज शुक्ला की तहरीर पर एफआइआर दर्ज हुई है। धमकी देने वाले की तलाश की जा रही है। प्रथम दृष्ट्या छानबीन में संबधित अधिकारी किसी संगठन के हाथ होने की बात कह रहे हैं। जल्द ही इसके राजफाश का दावा कर रहे हैं। पुलिस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच, सर्विलांस समेत कई टीमें आरोपित की तलाश में लगाई गईं हैं।

21 मई की देर रात आया था धमकी भरा मैसेज 

यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सएप मैसेज आया था। यह मैसेज डायल 112 की सोशल मीडिया डेस्क के वाट्सएप नंबर 7570000100 पर आया था। मैसेज में लिखा है कि ‘सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं। वह (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है।’ इस मैसेज के आने के बाद तत्काल आला अफसरों को इसकी जानकारी दी गई।

मैसेज के मिलने के महज 19 मिनट में एफआइआर दर्ज

अधिकारियों ने बताया कि गोमती नगर थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। खासबात यह है कि इस मामले में पुलिस पूरी तत्परता दिखाई। मैसेज 21 मई की रात में 12 बजकर 32 मिनट पर आया मिला था। इस मैसेज के मिलने के महज 19 मिनट के अंदर 12 बजकर 51 मिनट पर गोमती नगर पुलिस स्टेशन एफआईआर दर्ज करा दी गई। गोमती नगर के निरीक्षक डीके सिंह ने बताया कि 112 मुख्यालय से संदेश मंगाया गया है। संदेश भेजने के लिए उपयोग किये नम्बर की जांच शुरू कर दी गयी है। जल्द ही लोकेशन ट्रेस हो जायेगी। लखनऊ के गोमती नगर थाना में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले अज्ञात के खिलाफ धारा 505 वन बी, 506 और 507 के तहत एफआईआर दर्ज की गयी है।

मजदूरों की दुर्दशा के लिए भाजपा की केंद्र सरकार व कांग्रेस दोनों जिम्मेदार: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा के लिए भाजपा की केंद्र सरकार व कांग्रेस दोनों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि मजदूरों के मुद्दे पर दोनों ही पार्टियां घिनौनी राजनीति कर रही हैं। वह रविवार को मीडिया को संबोधित कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार व कांग्रेस ने मजदूरों की लगातार अनदेखी की है जिसके कारण उन्हें रोजगार के लिए अलग-अलग शहरों में जाना पड़ा और अब लॉकडाउन के कारण वो भूखे-प्यासे सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि मजदूरों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। अभी तक जहां मजदूर काम कर रहे थे उनसे काम ज्यादा लिया जाता था और वेतन कम दिया जाता था। उन्होंने कहा कि बसपा ने हमेशा ही मजदूरों के भले के लिए काम किया। हम उन्हें बेरोजगारी भत्ता नहीं रोजगार देते थे।

अखिलेश यादव का सरकार पर तंज- मोबाइल से संक्रमण फैलता है तो पूरे देश में कर दिया जाए बैन

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए मोबाइल फोन रखने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि यदि मोबाइल से संक्रमण फैलता है तो आइसोलेशन वार्ड के साथ पूरे देश में इसे बैन कर देना चाहिए। सच्चाई यह है कि प्रदेश के अस्पतालों की दुर्दशा सार्वजनिक न हो जाए इसलिए यह पाबंदी लगाई गई है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को ट्वीट कर कहा कि ‘अगर मोबाइल से संक्रमण फैलता है तो आइसोलेशन वार्ड के साथ पूरे देश में इसे बैन कर देना चाहिए। यही तो अकेले में मानसिक सहारा बनता है। वस्तुतः अस्पतालों की दुर्व्यवस्था व दुर्दशा का सच जनता तक न पहुंचे, इसीलिए ये पाबंदी है। जरूरत मोबाइल की पाबंदी की नहीं बल्कि सैनेटाइज करने की है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि देश के सीमांत क्षेत्रों से चीन के सैन्य घुसपैठ की खबरों की सत्यता व वस्तुस्थिति से सरकार पूरे देश को अवगत कराए और अपना पक्ष व स्थिति जनता के सामने रखे। सरकार सुनिश्चित करे कि कोरोना के संकटकाल में प्रतिरक्षा व विदेश नीति जैसे संवेदनशील विषयों पर कोई देश अवांछनीय लाभ न उठा सके।

योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने का आरोपी मुंबई से गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने वाली आरोपी मुंबई के चुना भट्टी इलाके से गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित की तलाश में एसटीएफ की एक टीम ने महाराष्ट्र में डेरा डाला था। आरोपित को यूपी एसटीएफ ने मुंबई पुलिस की मदद से दूसरे दिन ही धर दबोचा। पकड़ा गया आरोपित कामरान अमीन पुत्र स्व. अमीन चुन्नू खान है। धमकी भरा संदेश यूपी 112 के हेल्पडेस्क के जिस व्हाट्सएप नंबर से आया था, वह (8828453350) महाराष्ट्र का है। उसने मैसेज में सीएम योगी को संप्रदाय विशेष का दुश्मन भी बताया था।

एसटीएफ के एएसपी विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि आरोपित को 24 मई तक ट्रांजिट रिमांड पर लेकर यूपी एसटीएफ की टीम लखनऊ के लिए रवाना हो गई है। इस साजिस में किसी संगठन का हाथ है कि नहीं उससे पूछताछ के बाद ही पता चल सकेगा। पुलिस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच, सर्विलांस समेत कई टीमें आरोपित की तलाश में जुटीं थीं।  इस मामले में गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 505(1)/(b),506 और 507 के तहत इंस्पेक्टर धीरज शुक्ला की तहरीर पर एफआइआर दर्ज हुई थी।

पांचवी फेल नशेड़ी सिक्योरिटी गार्ड ने दी थी सीएम को धमकी

मुंबई के स्वदेशी मिल कंपाउंड न्यू महाडा कॉलोनी निवासी कामरान (25) अमीन मांडवी मुंबई 3 में रहता था, लेकिन वहां की बिल्डिंग में मरम्मत का काम चल रहा है। उसने सिर्फ पांचवी तक पढ़ाई की, फेल होने के बाद स्कूल नहीं गया। वह झावेरी बाजार मे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। वर्ष 2017 में स्पाइनल टीवी का ऑपरेशन हुआ उसके बाद से कोई काम नहीं कर रहा है। आरोपित के पिता टैक्सी चलाते थे जिनकी 2 माह पूर्व मृत्यु हो गई। वह दो भाई है। बड़ा भाई इमरान अमीन खान मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता है। मम्मी शिरीन अमीन खान पहले टीचर थी अभी कुछ नहीं करती। एक बहन है, जो मेहंदी की क्लासेज कर रही है, इसका यूपी में कोई रिश्तेदार नहीं है।

21 मई की देर रात आया था धमकी भरा मैसेज

यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सएप मैसेज आया था। यह मैसेज डायल 112 की सोशल मीडिया डेस्क के वाट्सएप नंबर 7570000100 पर आया था। मैसेज में लिखा है कि ‘सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं। वह (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है।’ इस मैसेज के आने के बाद तत्काल आला अफसरों को इसकी जानकारी दी गई।

मैसेज के मिलने के महज 19 मिनट में एफआइआर दर्ज

अधिकारियों ने बताया कि गोमती नगर थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। खासबात यह है कि इस मामले में पुलिस पूरी तत्परता दिखाई। मैसेज 21 मई की रात में 12 बजकर 32 मिनट पर आया मिला था। इस मैसेज के मिलने के महज 19 मिनट के अंदर 12 बजकर 51 मिनट पर गोमती नगर पुलिस स्टेशन एफआईआर दर्ज करा दी गई। गोमती नगर के निरीक्षक डीके सिंह ने बताया कि 112 मुख्यालय से संदेश मंगाया गया है। संदेश भेजने के लिए उपयोग किये नम्बर की जांच शुरू कर दी गयी है। जल्द ही लोकेशन ट्रेस हो जायेगी। लखनऊ के गोमती नगर थाना में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले अज्ञात के खिलाफ धारा 505 वन बी, 506 और 507 के तहत एफआईआर दर्ज की गयी है।

 

ईद पर खुशियां तो होंगी पर पहली बार अपनों से गले नहीं मिल सकेंगे लोग

 ये ईद का त्योहार है, खुशियों का है त्योहार, ना मेरा है ना तेरा है, ये सबका है त्योहार, मुबारक ईद मुबारक सभी को ईद मुबारक… ये तराना ईद के दिन की खुशियों को दर्शाती है, हर साल इसी  तरह हम सब लोग मिलजुल कर ईद मानते थे, लेकिन इस बार इतिहास में शायद पहली बार ईद कुछ अलग अंदाज में मनेगी।

कोरोना संक्रमण के डर के साये में रवायतों से लेकर खुशी के इजहार के तौर-तरीके  बदले-बदले से होंगे। हर साल ईद के मौके पर परवान चढ़ने वाले कई रिवाज इस बार के त्योहार का हिस्सा नहीं होंगे। खुशियां तो होंगी लेकिन गले मिलकर उन्हें बांट नहीं सकेंगे। चांद रात भी होगी, लेकिन बाजारों में रौनक नहीं। ईदगाह तो अपनी जगह होंगे, लेकिन वहां ईद की नमाज नहीं। न मेला लगेगा, न नए कपड़े होंगे, न ही ईद मिलन की रस्म होगी। गलियां सूनी होंगी, उनमें सजावटी चांद सितारे नहीं दिखेंगे। इस बार की ईद कुछ ऐसी ही मनेगी।

 बाजारों में नहीं दिखेगी चांद रात की रौनक 

चांद रात पर लखनऊ का ईद बाजार पूरी रात गुलजार रहता है। नक्खास, अमीनाबाद, हजरतगंज समेत कई बाजारों में रात भर भीड़ होती थी। सेवईं, नए कपड़े, सजावटी सामान लेने के लिए लोगों को हुजूम उमड़ता है। मेन रोड में पैर रखने तक की जगह नहीं होती है। पुलिस को बैरिकेडिंग कर पूरी सड़क को बंद करना पड़ता है, ताकि  लोग भीड़ में कोई गाड़ी न घुसे और लोग पैदल चलकर खरीदारी कर सके।लेकिन इस बार लॉक डाउन की वजह से सभी बाज़ार बन्द है।

 मायके नहीं जा सकेगी बेटियां 

लॉकडाउन की वजह से लोग ईद पर अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के घर नहीं जा पाएंगे। वहीं ससुराल में रह रही बेटियां भी अपने मायके नहीं जा सकेगी। सदर में रहने वाली नबिया खान बताती हैं कि शादी के बाद हर बार ईद में अपने घर कानपुर जाती थी, लेकिन इस बार अपने मायके नहीं जा सकूं गीं। यही हाल राजधानी की हर मुस्लिम महिला का है जो ईद में अपने मायके ईदी मिलने जाती थी, वो इस बार नहीं जा सकेंगी।

बच्चों में दिख रही उदासी

ईद का दिन बच्चों के लिए सबसे खुशी का दिन होता है। ईद में घर में जो भी आता है बच्चों को ईदी के तौर पर पैसे देते हैं। लेकिन इस बार बच्चे उदास होंगे। ईद में ना मेला लगेगा और ना कोई  घर आ सकेगा। ऐसे में बच्चो को ईदी भी नहीं मिल सकेगी और वो मेले घूमने भी नहीं जा सकेंगे। सरोजनीनगर के दस साल के अरमान ने बताया कि हर बार घर में कई मेहमान आते थे, बहुत सारे पैसे मिलते थे, लेकिन इस बार तो न कोई आएगा ना मै कहीं जा सकुंगा, इस बार तो ऐसे ही ईद मनेगी।

-ईदगाह और मस्जिदों में नहीं होगी नमाज 

ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि ईद की हर बार ईद की नमाज ईदगाह में अदा की जाती थी, बड़ी तादाद में एक साथ लोग नमाज अदा करने पहुंचते थे। अलावा मस्जिदों में भी नमाजियों का हुजूम रहता था।लेकिन कोरोना संक्रमण फैलने के डर से पहले से ही मस्जिदों में सामूहिक नमाज पर रोक है। ऐसे में इस बार ईद की नमाज न ईदगाह और न मस्जिद में अदा होगी। लॉक डाउन का पालन करें और घर में ईद की नमाज़ अदा करें।

23 विदेशी जमाती अस्थायी जेल से लखनऊ जिला जेल शिफ्ट

राजधानी लखनऊ में फैज़ाबाद रोड स्थित अस्थायी जेल में रखे गए 23 संक्रमित विदेशी जमातियों को लखनऊ जिला जेल में शिफ्ट कर दिया गया। इनमें चार महिलाएं भी शामिल हैं। जेल पहुंचे सभी जमातियों का जेल अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। उसके पश्चात तलाशी और कानूनी औपचारिकताये पूरी करने के बाद 19 पुरुष जमातियों को कोरन्टाइन बैरक और 4 महिलाओं को महिला बैरक में शिफ्ट कर दिया गया। इनके संक्रमण की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही जेल में शिफ्ट किया गया है। यह सभी जमाती एक माह से अधिक समय से अस्थायी जेल में थे। इनकी निगरानी जेल और पुलिस के अधीन थी। भोजन आदि की व्यवस्था जिला जेल प्रशासन द्वारा की जा रही थी। यह सभी रोजा रखे हुए हैं। वरिष्ठ अधीक्षक प्रेमनाथ पांडे बताते हैं कि जेल मैनुअल के अनुसार इन्हें रखा गया है। उसी के तहत सुविधाएं दी जाएंगी।

अनुप्रिया पटेल ने प्रदेशवासियों को दी ईद की बधाई 

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष व मीरजापुर सांसद अनुप्रिया पटेल ने ईद के पावन अवसर पर उत्तर प्रदेश सहित समस्त देशवासियों को ईद की हार्दिक बधाई दी हैं। अनुप्रिया पटेल ने कहा कि ईद का त्यौहार हमें भाईचारा एवं प्रेम का संदेश देता है। अनुप्रिया पटेल ने ईद की बधाई देने के साथ-साथ उत्तर प्रदेश सहित देश की सुख, समृद्धि, प्रगति, उन्नति और विकास की कामना की हैं। उन्होंने कहा कि रमजान के इस पवित्र महीने में लोग रोजा रखते हैं, मैं उन सबको बधाई देती हूं। आपसी भाईचारा, शांति, सद्भावना और प्रेम का माहौल बना रहे, यही इसका समाज में संदेश है। सब लोग मिल-जुलकर समाज, राज्य और देश को आगे बढ़ाएं।  पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं एमएलसी आशीष पटेल, प्रदेश अध्यक्ष डॉ.जमुना प्रसाद सरोज ने भी प्रदेशवासियों को ईद की हार्दिक बधाई दी है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल ने लोगों को ईद की बधाई देते हुए कहा कि यह त्यौहार भाईचारा, शांति, सद्भावना और प्रेम का संदेश देता है।

केजीएमयू के 132 मरीजों पर होगा कोराना वैक्‍सीन का ट्रायल

राजधानी स्थित सीडीआरआई ने कोरोना वायरस को पस्त करने के लिए संतरे के छिलके से दवा तैयार की है। यह दवा केजीएमयू में भर्ती कोरोना मरीजों पर परखी जाएगी। केजीएमयू एथिकल कमेटी की बैठक में ड्रग ट्रॉयल को मंजूरी मिलने की उम्मीद है। कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। अभी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज की पुख्ता दवा नहीं है। दुनिया भर में तमाम तरह की दवा और वैक्सीन पर ट्रॉयल चल रहा है। राजधानी लखनऊ के दो बड़े संस्थानों में भी कोरोना को हराने के लिए बड़े पैमाने पर शोध कार्य चल रहा है। इसी बीच सीडीआरआई ने संतरे के छिलके से दवा तैयार की है। केजीएमयू और सीडीआरआई के बीच करार भी हो चुका है। अधिकारियों का कहना है कि इस दवा का कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होगा।  केजीएमयू रिसर्च सेल के प्रभारी डॉ. आरके गर्ग के मुताबिक कुल 132 कोरोना पॉजिटिव मरीजों पर ट्रॉयल होगा। इनमें 66 मरीजों को सीडीआरआई द्वारा तैयार दवा दी जाएगी। बाकी मरीजों को दूसरी दवाएं दी जाएंगी। इसके बाद मरीजों में सुधार को परखा जाएगा।

खंभे से टकराई अनियंत्रित बस, बडा हादसा टला

राजधानी के सरोजनी नगर थाना क्षेत्र में शनिवार की देर रात तीन बजे एक अनियंत्रित तेज रफ्तार बस खंभे सहित ट्रांसफार्मर से टकरा गई। इससे खंभा और ट्रांसफार्मर नीचे गिर गया। बताया जा रहा है कि बस चालक नशे में धुत्त था। घटनास्थल के पास ही थारू जनजाति के लोगों के आशियाने बने थे। गनीमत रही कि हादसे में कोई भी हताहत नहीं हुआ। पुलिस ने आरोपी बस चालक को हिरासत में  ले लिया है।

मामला सरोजनीनगर थानाक्षेत्र का है। पुलिस के मुताबिक, एयर कंडीशनर बस नंबर (यूपी 41 एटी -3745) का चालक शाहनवाज बनारस से प्रवासियों को छोड़कर वापस आ रहा था। अधिक शराब के सेवन के चलते बस अनियंत्रित होकर खंभों से टकरा गई। जहां पर ट्रांसफार्मर लगे खंभों के अलावा तीन अन्य खंभे भी क्षतिग्रस्त हो गए। जिससे गहरु उपकेंद्र से पोषित कई गांव की बिजली गुल हो गई। उपखंड अधिकारी शेष मणि त्रिपाठी ने बताया कि हादसे के बाद से ही गहरु, उपकेंद्र से पोषित नटकुर ,पिपरसंड ,जयराजपुरी व अन्य ग्राम सभाओं की विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। फिलहाल विभाग के अभियंता और कर्मचारियों को लगाया गया है। ताकि खंभे आदि लगाकर जल्द से जल्द विद्युत आपूर्ति को बहाल किया जा सके।

भारतीय जनता पार्टी के मंडल प्रभारी भुवनेंद्र सिंह समेत अन्य लोगों की मानें तो दिन और रात करीब 11 बजे तक इस मार्ग पर लोगों की चहल-पहल और आवागमन बना रहता है। अगर इस दौरान हादसा होता तो जान माल का भी नुकसान हो सकता था। इसके साथ ही हाईटेंशन के खंभे सहित तार या बस अगर थारू जनजाति की आबादी  पर गिरे होते या ट्रांसफार्मर के  गिरने के दौरान विद्युत ट्रिप नहीं करती तो निश्चित ही बड़ा हादसा हो सकता था।

कमिशनर प्रणाली में थानेदार कर रहे मनमानी

 डी एम के आदेश की उडी धज्जियां

कमिशनर प्रणाली में थानेदार मनमानी पर उतर आये हैं। थानेदार जिलाधिकारी के आदेशों को नहीं मान रहे हैं। यह आरोप उत्त्तर प्रदेश युवा व्यापार मण्डल के अध्यक्ष अतुल कुमार जैन ने लगाए है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जहाँ-जहाँ  कमिश्नर प्रणाली लागू की गयी है, वहाँ थानेदार जिलाधिकारी के आदेश को नही मान रहे है। जिसका खामियाजा व्यापारी वर्ग को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार के शासनादेश संख्या 381/2020 सी एक्स-3 गृह अनुभाग  ने 3 मई 2020 के अनुसार खाद, बीज,कृषि यंत्रों, की दुकानों को सुबह  9 बजे से शाम 9 बजे तक खोलने का निर्णय लिया था। लेकिन 19 मई को जारी आदेश में बीजो की दुकानों के लिये कोई स्पष्ट गाइडलाइंस जारी नही की गयी है। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि बीज की दुकाने भी दाएं बाएं कांसेप्‍ट पर खुलेंगी।  पर कई थानेदार अपनी मनमानी कर रहे हैं।
 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.