पलिया प्रताप शाह डबल मर्डर मिस्ट्री का पुलिस ने खुलासा करते हुए आलाकत्ल की बरामदगी का दावा किया है। हत्याकाण्ड से जुड़े चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर प्रकरण की इतिश्री कर ली है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में में अवगत कराया कि पलिया प्रताप शाह के ग्राम प्रधान की गोली मारकर की गयी हत्या का खुलासा करने के लिए इनायतनगर थाना के प्रधान निरीक्षक व एसओजी टीम प्रभारी की संयुक्त टीम बनायी गयी थी। शनिवार को संयुक्त टीम को पता चला कि हत्या में शामिल अभियुक्त भाऊपुर तिराहे पर कहीं जाने के लिए खड़े हैं मुखबिर खास की सूचना पर विश्वास करके संयुक्त टीम ने घेराबंदी कर हत्याकाण्ड में शामिल चार अभियुक्त अंकित यादव पुत्र राम पदारथ यादव उर्फ नान्ह, रजनीश उर्फ रज्जन तिवारी पुत्र शिव कुमार, सौरभ यादव पुत्र दुर्गा प्रसाद यादव और रामदीन उर्फ वीरू पुत्र ऊदल बनराजा को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि 18 मई को प्रातः लगभग 10.30 बजे गांव में हो रही पंचायत के दौरान राम पदारथ यादव व ग्राम प्रधान जय प्रकाश सिंह के मध्य वाद विवाद के दौरान राम पदारथ द्वारा गोली मारने का प्रयास किया गया। गुत्थम गुत्था के दौरान राम पदारथ के असलहे की गोली उसको स्वयं लग गयी। उसी दौरान अंकित यादव ने तमंचे के फायर व साथी वीरू द्वारा कुल्हाड़ी के वार से मौके पर ही ग्राम प्रधान जय प्रकाश सिंह की हत्या कर दी गयी। हत्या करने के बाद सभी मौके से फरार हो गये और हत्या में प्रयुक्त हथियारों को अहिरन का पुरवा स्थित बाग की  घनी झाड़ियों में छुपा दिया। पकड़े जाने के बाद अभियुक्तों ने आलाकत्ल झाड़ी से बरामद कराया। बरामद हथियारों में एक देशी तमंचा 315 बोर, एक अदद खोखा कारतूस, एक अदद 12 बोर देशी तमंचा व दो जिंदा कारतूस तथा कुल्हाड़ी बरामद की गयी है। एसएसपी ने बताया कि बरामद हथियारों को बैलेस्टिक जांच के लिए फारेंसिक लैब भेजा जा रहा है। इलेक्ट्रानिक व भौतिक साक्ष्यों को समायोजित करते हुए घटना का अनावरण कर दिया गया है। गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल को 20 हजार रूपया नकद पुरस्कार दिया जा रहा है।

संदिग्ध परिस्थितियों में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की मौत

बीकापुर शिक्षा क्षेत्र स्थित पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मारक इंटर कॉलेज खजुरहट में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राघवेंद्र प्रताप सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है।जानकारी पाकर मौके पर पहुंची बीकापुर कोतवाली पुलिस ने विद्यालय कर्मी का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार और रौनाही थाना क्षेत्र अंतर्गत रामनगर धौराहरा निवासी राघवेंद्र प्रताप सिंह पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मारक ऊपर कॉलेज खजुरहट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पद पर बीते वर्ष 2000 से कार्यरत थे। बताया जाता है कि वह परिवार सहित विद्यालय भवन में ही रहते थे।  उन्हें विगत 15 महीने से वेतन नहीं मिला था। जिसके चलते वह काफी परेशान थे । आसपास के दुकानदारों के काफी कर्जदार भी हो गए थे।
शनिवार की भोर उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई जिनके मौत की जानकारी मिलते ही समूचे क्षेत्र में सनसनी फैल गई और भारी संख्या में विद्यालय सहित आसपास के छात्रों ग्रामीणों का मौके पर जमावड़ा हो गया। घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची बीकापुर कोतवाली पुलिस घटना की गहन छानबीन में जुटी है फिलहाल विद्यालय कर्मी की मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। हालांकि लोग दबी जुबान से विद्यालय कर्मी की मौत का कारण उसे वेतन न मिलने के चलते जीवन में आई परेशानी जरूर बता रहे हैं

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.