मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग को सड़क सुरक्षा के साथ ही सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने चेकिंग कार्यों में तेजी लाने, डग्गामार वाहनों और ओवरलोडिंग पर प्रभावी नियंत्रण के लिए कहा है। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों व कामगारों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाया जाए। पुराने बकाये वाहनों से त्वरित कर वसूली के लिए एकमुश्त समाधान योजना तथा लॉकडाउन के कारण समय से कर न चुका पाने वाले वाहन स्वामियों को पेनाल्टी में छूट पर विचार करने की बात कही।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन कड़ाई से किया जाए। परिवहन विभाग, नोडल विभाग के रूप में कार्य करते हुए अन्य विभागों जैसे पुलिस, शिक्षा, लोक निर्माण, चिकित्सा शिक्षा, स्वास्थ्य व चिकित्सा विभाग आदि के साथ समन्वय कर सड़क दुर्घटनाओं में नियंत्रण करे। इस कार्य में युवक मंगल दल, नेहरू युवा केंद्र, एनसीसी, एनएसएस, नागरिक सुरक्षा संगठन तथा अन्य स्वयंसेवी संगठनों का भी सहयोग लिया जाए। उन्होंने हेलमेट और सीट बेल्ट की व्यवस्था का अनुपालन करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाहनों की फिटनेस, उनके परमिट और चालकों की फिटनेस को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। एक्सप्रेस-वे और राज्य मार्गों पर तेज गति से चलने वाले वाहनों के कारण होने वाली दुर्घटनाओं के भी प्रभावी नियंत्रण के लिए कहा। उन्होंने कहा कि यातायात के सामान्य नियमों की जानकारी और अनुपालन से बड़ी संख्या में दुर्घनाएं रोकी जा सकती हैं। प्रमुख सचिव परिवहन आरके सिंह ने बताया कि वर्ष 2018-19 के मुकाबले वर्ष 2019-20 में राजस्व प्राप्ति में वृद्धि हुई है। वर्ष 2019-20 में सड़क दुर्घटनाओं में वर्ष 2018-19 की अपेक्षा कमी आई है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.