कानपुर में बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान को करारा झटका लगा है। कानपुर में बीते दो साल से बच्‍चों में कुपोषण के खिलाफ लड़ रही पीसीएस अधिकारी व कानपुर में बाल विकास परियोजना अधिकारी के पद पर तैनात अनामिका सिंह ने डीपीओ जफर खान के खिलाफ अभद्र व्‍यवहार करने और दुराचार का प्रयास करने व अश्‍लील हरकत करने का आरोप लगाया है। काकादेव थाने में दी तहरीर के अनुसार भ्रष्‍टाचार की राह में रोडा बनी अनामिका सिंह को डीपीओ जफर खान कुछ आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व पोर्टल पत्रकारो के सहारे उन्‍हें लगातार झूठे मामले में फंसाने की धमकी दे रहे थे सोमवार को उन्‍होंने कार्यालय में ही अभद्रता की है। बड़े अधिकारी डीपीओ जफर खान की पैरवी करने में जुट गए हैं। अनामिका सिंह ने यह भी स्‍वीकार किया कि अपने बचाव में उन्‍होंने भी डीपीओ को पीट दिया है।

अनामिका ने डीएम कानपुर को भी पत्र लिख कर पूरे मामले से अवगत कराया है।कानपुर में बीते दो साल से बच्‍चों में कुपोषण के खिलाफ जंग लड रही अनामिका कोरोना महामारी में भी जुटी थी थी उन्‍हें कोरोना वारियर्स भी कहा गया था। कुपोषण के खिलाफ जंग में देश भर में उनकी सराहना हुई है। दूरदर्शन एबीपी न्‍यूज चैनलों के साथ नवभारत टाइम्‍स व हिन्‍दुस्‍तान ने उनके प्रयासों को काफी सराहा है। अनामिका नेशनल लेवल पर कई बार जूडो खेल चुकी हैं और कानपुर मंडल की पहली महिला ब्‍लैक बेल्‍ट होल्‍डर रही हैं। अनामिका कोरोना आपदा के बीच भी अपने काम में मुस्‍तैद रही हैं जिसकी तारीफ राज्‍यमंत्री नीलिमा कटियार भी कर चुकी हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.