उत्तर प्रदेश के कई जिलों में रविवार को तेज आंधी के साथ हुई बारिश से 40 लोगों की मौत हो गई। आसमान में घिरे घने बादलों के कारण दिन में ही अंधेरा छा गया। बड़ी संख्या में पेड़ और बिजली के खम्भे उखड़ गए। लखनऊ में दो लोगों की जान गई है। लखनऊ की फलपट्टी में आम की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है।

उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त संजय गोयल ने जिलाधिकारियों से कहा है कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता जल्द दी जाए। इसके साथ ही उन्होंने फसलों के नुकसान के बारे में जानकारी मांगी है।

आंधी-पानी की घटनाओं में सीतापुर में पांच, कासगंज में चार, बाराबंकी में तीन, बलिया में दो, बागपत में दो, उन्नाव में दो, बहराइच में एक, फतेहपुर में एक, बुलंदशहर में एक व्यक्ति की मौत हो गई। चित्रकूट में दो लोगों की मौत व दो के घायल होने की खबर हैं। पीलीभीत में एक व्यक्ति की मौत हुई। इसके अलावा मिर्जापुर में एक, कन्नौज में दो, हरदोई में दो, बदायूं में तीन, अमेठी में एक व अलीगढ़ में एक की मौत हुई है। इटावा, ललितपुर, एटा व मैनपुरी में क्रमश: एक-एक व्यक्ति के मरने का समाचार है। आंधी-पानी से सहारनपुर में दो मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।

राहत आयुक्त ने 40 लोगों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, हापुड़, बागपत, मिर्जापुर, भदोही, सोनभद्र, मुरादाबाद, अमरोहा, बिजनौर, संभल, रामपुर, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, लखीमपुर खीरी, एटा, हाथरस, कासंगज, जालौन, सीतापुर, लखनऊ, उन्नाव, बहराइच, बाराबंकी, अमेठी, कन्नौज, अलीगढ़, मऊ, शाहजहांपुर, श्रावस्ती, चित्रकूट, पीलीभीत, बलिया, फतेहपुर, बदायूं, हरदोई में आंधी, तूफान व बारिश की रिपोर्ट मिली है।

अगले दो दिन पूरे प्रदेश में तेज आंधी और गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार हैं। तीसरे दिन पश्चिमी यूपी में छिटपुट बारिश हो सकती है। कहीं-कहीं ओले भी पड़ सकते हैं। मध्य पाकिस्तान के ऊपर केन्द्रित पश्चिमी विक्षोभ और चक्रवातीय दबाव की वजह से मौसम में यह बदलाव हुआ है। जेपी गुप्त, मौसम निदेशक

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.