कानपुर- कानपुर में बाल विकास परियोजना अधिकारी अनामिका सिंह किसी परिचय की मोहताज़ नहीं है ! कई वर्षो से अनामिका जी ने अपने अधिकार छेत्र में आने वाले सभी छेत्रो में काम कर के कुपोषण के खिलफ जंग का ऐलान कर दिया था ! अनामिका जी के लगातार प्रयाशो के चलते उनके अधिकार छेत्र में आने वाले अब कुपोषित बच्चो की संख्या दिन पर दिन कम होती जा रही है ! अब उनके अधिकार छेत्र में कुपोषण के खिलाफ जंग में अति कुपोषित बच्चो की संख्या न के बराबर रह गयी है और जो भी है भी उनके लिए अनामिका जी अपनी टीम के साथ लगातार प्रयाश कर रही है !

माननीय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशानुसार, सरकार द्वारा इस भीषण कोरोना संकट की घड़ी में भी, बच्चों और किशोरियों एवं महिलाओं की स्वास्थ्य पोषण आदि की चिंता करते हुए शहर द्वतीय परियोजना में बाल विकास परियोजना अधिकारी के द्वारा बच्चो के हितों को ध्यान में रखते हुए, कार्य किया जा रहा है एवं पात्रों को राहत प्रदान की जा रही है।

सन 2016 में तत्कालीन प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री द्वारा, अधिकृत रूप से,यह बयान दिया गया था कि प्रदेश में,कुपोषित बच्चों की संख्या 47.3% थी। जिसमें कानपुर का स्थान प्राथमिकताओं में था। जो की अनामिका जी के लिए एक बड़ी चुनौती थी।

अनामिका जी ने बताया की पिछले वर्षों की तुलना में,सरकार द्वारा किए जा रहे कुपोषण के क्षेत्र में, कार्य के आधार पर, इस वर्ष हमारे कार्यछेत्र में अतिकुपोषित बच्चों की कुल संख्या,लगभग 62 रह गई है!सरकार के निर्देश के कारण काम करने से सकारात्मक परिणाम आये है.। अनामिका जी ने कहा हम सब को गर्व का अनुभव होता है।

आज इसी कड़ी में,विधायक सुरेंद्र मैथानी जी के द्वारा, कानपुर में बाल विकास परियोजना अधिकारी अनामिका सिंह जी ने गोविंद नगर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत,आंगनवाड़ी केन्द्रो पर पोषण से संबंधित,सामग्री का वितरण कराकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ! अनामिका जी ने बताया की इस कोविड 19 के संकट के समय में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ के माध्यम से डोर टू डोर पोषाहार पहुंचाया जा रहा है इसका उद्देश्य रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाना है और शरीर को मजबूत बनाना है !इस माध्यम से सभी लाभार्थी को शारीरिक रूप से भी, मजबूत किया जाएगा।

इसी अभियान के अंतर्गत आज बाल पुष्टाहार विभाग के सहयोग से,बच्चों और महिलाओं को विधायक सुरेंद्र मैथानी द्वारा,जिले की अधिकारी(CDPO)-अनामिका सिंह के साथ,पोषण सामग्री वितरण का कार्य किया गया साथ ही अधिकारी समेत सभी कार्यकर्ताओ पर फूलो की वर्षा कर उन्हें सम्मानित किया गया !

आज के समय मे कोरोना महामारी के चलते,बच्चों(विशेष रूप से कुपोषित)एवं बुजुर्गो को,आसानी से, चपेटे में ले लेता है।उसी से बच्चो और बुजुगों को बचाने के लिए अनामिका जी ने ये संकल्प लिया है की उनको जागरूक करने के लिए डोर टू दूर पोषाहार वितरण के साथ साथ कोविड 19 से बचाओ की जानकारी दी जाएगी !

रिपोर्ट-दिवाकर श्रीवास्तव 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.