पपीता कई लोगों के द्वारा बड़े चाव से खा लिया जाता है। इसका स्वाद लोगों को इतना पसंद आता है कि वह इसे नियमित रूप से भी खाना शुरू कर देते हैं। वहीं, हाल ही में एक रिसर्च के अनुसार इस बात का दावा किया गया है कि अगर अधिक मात्रा में पपीते का सेवन किया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। रिसर्च में बताया गया है कि पपीते का अधिक सेवन कई प्रकार की त्वचा संबंधित बीमारियों के साथ-साथ शरीर के कुछ विशेष अंगों पर भी नकारात्मक प्रभाव डालता है। यहां आपको पपीते के अधिक सेवन के कारण होने वाली बीमारियों के बारे में बताया जा रहा है।
कैरोटीनीमिया
यह एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण त्वचा का रंग बदलने लगता है और उसमें अजीब तरह का पीला रंग दिखता है। एनसीबीआई के अनुसार, कैरोटीनीमिया मुख्य रूप से अधिक मात्रा में बीटा-कैरोटीन के सेवन के कारण होती है। इसकी मात्रा पपीते में भी बहुत ज्यादा पाई जाती है। इसलिए यदि आप इसका अधिक सेवन करते हैं तो सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करें।
सांस से जुड़ी बीमारियां
जो लोग सांस से जुड़ी किसी भी प्रकार की बीमारी से पीडि़त हैं, वे अधिक मात्रा में पपीते का सेवन करने से बचें। नेशनल सेंटर फॉर बायो टेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के द्वारा किए गए एक शोध में यह बताया गया है कि श्वास संबंधी बीमारियां जैसे कि अस्थमा के मरीजों को यह फल बहुत कम मात्रा में ही खाना चाहिए। दरअसल, ऐसे लोगों को पपीते का अधिक सेवन करने के कारण एलर्जी का खतरा बढ़ जाता है।
पेट से जुड़ी समस्या
पपीते को अगर ज्यादा मात्रा में खाया जाता है कि यहां आपके पेट की कई समस्याओं को जन्म दे सकता है। ऐसा इसलिए भी मुमकिन हो सकता है क्योंकि पपीते में फाइबर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। वैसे फाइबर तो पाचन क्रिया के लिए लाभदायक माना जाता है। वहीं, मेडलाइन के अनुसार अधिक मात्रा में फाइबर का किया गया सेवन पेट में ऐठन, पेट दर्द और पाचन क्रिया को भी बुरी तरह प्रभावित करता है।
स्किन एलर्जी
पपीते का सेवन करने के अलावा इसका चेहरे पर फेस पैक के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि पपीते में पेपेन एंग्जाइम होता है। वहीं, एनसीबीआई के अनुसार अगर इस एंग्जाइम का सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो यहां सेंसेटिव स्किन वाले लोगों में एलर्जी पैदा कर सकता है। इसके कारण उनके चेहरे और त्वचा पर रैशेज भी दिखने लगते हैं।
किडनी स्टोन
एनसीबीआई के अनुसार, पुरुषों के द्वारा अगर विटामिन-सी का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो इससे किडनी स्टोन का खतरा बढ़ जाता है। 100 ग्राम पपीते में लगभग 60 एमजी विटामिन-सी पाई जाती है। इसलिए इस बात पर विशेष ध्यान दें और हो सके तो डॉक्टर की सलाह लेकर इसका उचित मात्रा में सेवन करें।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.