महिलाओं पर लाठी भांजने के मामले में शुक्रवार को गोविंदनगर इंस्पेक्टर ने कार्रवाई के साथ खुलासा किया कि पुलिस पर पथराव हुआ था। यहां तक एक हेड कांस्टेबल की वर्दी फाड़ दी गई थी। इससे आवश्यक बल प्रयोग करना पड़ा। तीन लोगों को गिरफ्तार कर बलवा और लॉकडाउन उल्लंघन सहित अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

निरालानगर रेलवे ग्राउंड किनारे राजस्थान के कई मूर्तिकार परिवार रहते हैं। गुरुवार को दो परिवारों में चौकी के पास लगे वाटर कूलर से ठंडे पानी को लेकर विवाद हो गया। मारपीट और गालीगलौज के साथ सड़क पर मारपीट हुई। सूचना पर गोविदंनगर थाने से एसएसआई शीलेंद्र यादव हमराहियों के साथ मौके पर पहुंचे थे, जिनके महिला और लड़कियों पर लाठी भांजने का वीडियो वायरल हुआ था। मामले को संज्ञान में लेते हुए गोविंदनगर सीओ मनोज कुमार गुप्ता ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया था। दूसरे दिन शुक्रवार को थाना प्रभारी अनुराग शुक्ला ने खुलासा किया कि गुरुवार को विवाद के दौरान अराजकतत्वों ने पुलिस पर पथराव किया था। हेड कांस्टेबल लंकेश कुमार को चोटें आईं और उनकी वर्दी फट गई। अफरातफरी का माहौल बनने पर पुलिस ने आवश्यक बल प्रयोग किया। आरोपित अमृत, रूपाराम और मोहन को गिरफ्तार कर एफआईआर दर्ज की गई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.