उत्‍तर प्रदेश की बरहज सीट से भाजपा के विधायक सुरेश तिवारी का एक विवादास्‍पद वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह अपने समर्थकों को मुसलमानों से सब्‍जी न खरीदने की सलाह देते दिख रहे हैं। इस वीडियो के सोशल मीडिया में वायरल होने से राजनीतिक गलियारों में  माहौल गर्म हो गया है।

खुद को घिरता देख विधायक ने अब अपनी सफाई में कहा है कि उनकी बात का गलत अर्थ निकाला जा रहा है। वह किसी के प्रति कोई दुर्भावना नहीं रखते हैं। उनके मुताबिक वह नगर पालिका परिसर में किसी काम से गए थे। वहां मौजूद लोग जमातियों के बारे में आशंकाएं व्‍यक्‍त कर रहे थे। कुछ लोगों का कहना था कि जगह-जगह से सब्जियों-फलों पर थूक लगाकर बेचे जाने की खबरें आ रही हैं। इस पर उन्‍होंने अपनी ओर से जो कुछ कहा उसका मकसद किसी के खिलाफ नफरत फैलाना नहीं था। व‍ह सभी वर्गों को साथ लेकर चलते हैं और किसी के प्रति कोई दुर्भावना नहीं रखते हैं।

लेकिन विधायक के विरोधी उन पर समाज में नफरत फैलाने का आरोप लगा रहे हैं। कोरोना से बचाव के लिए देश भर में जारी लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया में रह-रहकर ऐसे वीडियो और खबरें प्रसारित हो रही हैं जिनसे समाज का सौहार्द बिगड़ने का अंदेशा है। इस बीच बार-बार प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से लेकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत सहित कई वरिष्‍ठ नेताओं ने लोगों से देश में एकता का माहौल बनाए रखने और कुछ लोगों की गलती के लिए किसी वर्ग विशेष के सभी लोगों को दोषी न मानने की अपील की है। लोगों से समाज में नफरत न फैलाने को कहा है लेकिन बार-बार ऐसे बातें  सामने आ रही हैं जिनसे सामाजिक सौहार्द को नुकसान पहुंचने की आशंका है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.