केंद्रीय गृहमंत्रालय के शनिवार से कुछ शर्तों के साथ दुकानें खोलने की मंजूरी के आदेश से यूपी के अधिकांश शहरों में संंशय की स्थिति पैदा हो गई। जगह जगह दुकानें खुल गई और बाजार में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि इसके बाद गृहमंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी कर भ्रम दूर किया।

गृह मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि ग्रामीण इलाकों में शॉपिंग मॉल को छोड़कर सभी दुकानें खुली रहेंगी। वहीं, शहरी इलाकों के लिए कहा गया है कि सभी स्टैंडअलोन दुकानें, पड़ोस की दुकानें और आवासीय परिसरों में दुकानें खोलने की अनुमति है। गृह मंत्रालय के स्पष्टीकरण आदेश में कहा गया है कि शराब की बिक्री पूरी तरह से बंद रहेगी। दुकानें खोलने की शर्त यह है कि 50 प्रतिशत से ज्यादा कर्मचारियों को नहीं बुलाया जा सकेगा। साथ ही इन कर्मियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य रहेगा और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन भी सुनिश्चित करना होगा। हालांकि, शॉपिंग कॉम्पेक्स और सिंगल और मल्टीब्रांट मॉल को फिलहाल खोलने की इजाजत नहीं दी गई है। यह आदेश शुक्रवार को सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को भेज दिया गया था।

मेरठ रेड जोन में, नहीं खुलेगी दुकाने, बाजार: डीएम

डीएम अनिल ढींगरा ने कहा है कि मेरठ जिला कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर रेड जोन में है। ऐसी स्थिति में मेरठ जिले में दुकान, बाजार खोलने की अनुमति नहीं है। मुख्यमंत्री ने भी सख्ती से लॉकडाउन के पालन के निर्देश दिए हैं। ऐसी स्थिति में तीन मई तक बाजार और दुकानों को खोलने की कोई अनुमति नही मिलेगी। सख्ती से अनुपालन कराया जाएगा। उल्लंघन की स्थिति में कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।
उन्होंने कहा कि  मेरठ रेड जोन में है। रेड जोन में दुकाने, बाजार खोलने की अनुमति नही मिलेगी। जब तक जिला रेड से ऑरेंज जोन में नहीं आएगा तो छूट का कोई सवाल नहीं है।  डीएम ने गृह मंत्रालय से जारी आदेश पर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा कि केवल आवश्यक सेवाओ को बनाये रखने के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि व्यापार संघ के प्रतिनिधियों से स्थिति स्पष्ट कर दी गयी है। सभी से अनुरोध है कि व्यवस्था बनाने में सहयोग करें  शनिवार को सुबह में कई इलाकों में लोगो ने भर्मित होकर दुकाने खोल ली थी। डीएम के निर्देश पर पुलिस ने मौके पर पहुचकर दुकानों को बंद कराया।  लोगो को समझाया कि मेरठ में नही खुलेंगी दुकाने।  तीन मई तक लॉकडाउन का पालन करना होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.