उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी प्रदेशवासियों को शनिवार से शुरू हो रहे रमजान माह की बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रमजान के पवित्र दिनों में रोजा, मानवता की सेवा, ईश्वर की बंदगी जैसे नेक कार्यों से धैर्य, आत्म अनुशासन, सहनशीलता, सादगी आदि मूल्यों को बढ़ावा मिलता है। इससे परस्पर प्रेम और भाईचारे की भावना भी बलवती होती है।

मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश समरसता, भाईचारे और सांस्कृतिक एकता की मिसाल है। इसी विरासत व परंपरा को अक्षुण्ण रखते हुए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर मुस्लिम भाई घरों में रहकर ही धार्मिक कार्य संपन्न करें। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भीड़ एकत्र न हो उन्होंने कहा है कि उ.प्र. समरसता, भाई-चारे और सांस्कृतिक एकता की मिसाल है। इसी विरासत और परंपरा को अक्षुण्ण रखते हुए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर मुस्लिम भाई घरों में रहकर ही धार्मिक कार्य संपन्न करें। यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी भीड़ या अन्य कोई कार्यक्रम आयोजित न हों। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अपने संदेश में कहा कि रमजान का माह हमें इबादत, संयम, आपसी प्रेम व सौहार्द के साथ-साथ गरीब तथा जरूरतमंदों की सहायता का संदेश भी देता है। राज्यपाल ने कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत लोगों से अपने घरों में रहकर ही इबादत करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जो लोग भी आवश्यक कार्य से घर से बाहर निकलें, वे चेहरे को मास्क अथवा कपड़े से ढककर रखें तथा शारीरिक दूरी का भी पूरा ध्यान रखें। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी प्रदेशवासियों को रमजान की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रमजान के मुबारक महीने में हमदर्दी व सब्र की सीख मिलती है। रमजान का मकसद बुराईयों से बचना और नेकी पर चलना भी है।

शिया व सुन्नी वक्फ बोर्ड का निर्देश- सहरी व इफ्तार के समय न जमा हो भीड़

शिया व सुन्नी वक्फ बोर्ड ने रमजान के मौके पर सहरी व इफ्तार के दौरान किसी भी स्थान पर भीड़ न जमा होने के निर्देश दिए हैं। सभी को घरों में ही नमाज पढ़ने के लिए कहा गया है। इससे पहले दिन में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने देशभर के वक्फ बोर्ड अधिकारियों से बातकर लॉकडाउन का पालन कड़ाई से कराने के निर्देश दिए हैं। इसी के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी एसएम शोएब ने शुक्रवार को सभी मुतवल्लियों व प्रबंध समितियों को किसी भी स्थान पर नमाज के दौरान भीड़ एकत्रित न होने के निर्देश दिए हैं। आदेशों का पालन न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह का आदेश शिया वक्फ बोर्ड ने भी जारी किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.