मडराक थाना क्षेत्र के आसना पुलिस चौकी में शुक्रवार को ड्यूटी लगाने को लेकर हुए विवाद में एक दरोगा और पुलिस कर्मियों ने लैपर्डकर्मी के साथ बेरहमी से मारपीट कर दी। इतना ही नहीं वर्दी तक फाड़ दी। आरोप है जातिवाद को लेकर दरोगा द्वेषभाव मानता है। पीड़ित लैपर्ड कर्मी ने एसएसपी से न्याय की गुहार लगाई है।

वाकये के अनुसार आसना पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही सत्येन्द्र कुमार की ड्यूटी शुक्रवार को इलाके में बैंक पर लगी थी। तय समय पर वह बैंक पर पहुंच गया। ग्राहकों की भीड़ को लाइन में लगाने के बाद वह तबियत खराब होने पर पुलिस चौकी पर दवा खाने पहुंच गया। पिछले काफी समय से सत्येन्द्र की तबियत खराब चल रही है। एक निजी अस्पताल से इलाज भी चल रहा है। आरोप है कि चौकी पर तैनात दरोगा और दो सिपाहियों ने उससे गांव में राशन बंटवाने का हवाला देकर गाली गलौज शुरू कर दी। इस पर सत्येन्द्र ने कहा है कि उसकी बैंक पर ड़्यूटी थी। वह बैंक से आ रहा है। इतना सुनते ही दरोगा आग बबूला हो गया और दो सिपाहियों की मदद से गाली गलौज कर मारपीट शुरू कर दी। जमीन पर गिराकर लात घूसों से मारा और वर्दी तक फाड़ दी। काफी देर तक हंगामा होता रहा। शोर शराबा सुनकर अन्य साथी भी आ गए। साथियों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो सका। पीड़ित सिपाही का आरोप है कि जातिवाद को लेकर दरोगा द्वेषभाव मानता है। जिसकी वजह से वह उत्पीड़न कर रहा है। इस संबंध में एसएसपी मुनिराज जी ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.