रेलवे बोर्ड ने ट्रेन परिचालन के दौरान लाखों रेल यात्रियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए कार्य योजना बना ली है। इसके तहत ट्रेन को प्रत्येक फेरे के बाद साबुन अथवा सैनेटाइजर स्प्रे से कीटाणु मुक्त किया जाएगा। प्रत्येक स्टॉप पर टॉयलेट की अच्छे से सफाई की जाएगी। सफर के दौरान हर दो घंटे में कोच और टायलेट के दरवाजे के हैंडल, रेलिंग, खिड़कियां आदि को सेनेटाइजर स्प्रे से साफ किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि भारतीय रेलवे 15 अप्रैल से कुछ ट्रेनों का परिचालन कर सकता है। मगर भी इस पर पूरी तरह से फैसला नहीं लिया गया है।

रेलवे दस्तावेजों में उल्लेख है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी ट्रेन व रेलवे स्टेशनों की ठीक प्रकार से सफाई करना अति आवश्यक है। हर फेरे के बाद ट्रेन के प्रत्येक कोच को साबुन अथवा सेनेटाइजर स्प्रे से साफ किया जाएगा। कोच के भीतर पर्दे नहीं लगाए जांएगे। खिड़की के पर्दे आसानी से धुलने व सूखने वाले होने चाहिए।

टीटीई यात्रियों को मास्क उपलब्ध कराएंगे
ट्रेन का फेरा पूरा होने पर रेलवे के रनिंग स्टाफ सहायक ड्राइवर, ड्राइवर, गार्ड, टीटीई, कोच सहायक व इलेक्ट्रिकल-मैकेनिकल कर्मचारियों की थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य होगी। रनिंग स्टाफ को चेहरे पर मास्क व हाथों में दस्तानें पहनना जरूरी होगा। वेटिंग हॉल, रिटायरिंग रूम, डॉरमेट्री की सफाई का काम निरंतर चलेगा। जिन रेल यात्रियों के पास मास्क नहीं होंगे, टीटीई उनको उपलब्ध कराएंगे।

रेलवे कर्मचारियों के बचान को चलेगी मुहिम
मध्य रेलवे ने अपने कर्मचारियों को कोरोना से बचाने के लिए दिशा-निर्देश तैयार कर लिया है। इसमें सभी 13 लाख कर्मचारियों की जानकारी एकत्र कर उन सबके लिए संभावित पृथकवास सुविधाओं की पहचान करना शामिल है। रेल परिवार देखरेख मुहिम दस्तावेज में कर्मचारियों को सुरक्षित रखने के लिए जोनल रेलवे द्वारा पालन किए जाने वाले दिशा-निर्देशों की एक सूची है।

इसके अलावा, 15 अप्रैल से संभावित परिचालन में यात्रियों को ट्रेन के सफर में बहुत कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं। एयरपोर्ट की तर्ज पर रेल यात्रियों को स्टेशन पर करीब सफर शुरू होने से चार घंटे पहले जाना होगा। ताकि यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सके। स्टेशन पर केवल आरक्षित टिकट वाले यात्री को प्रवेश करने की अनुमति होगी। इस दौरान प्लेटफार्म टिकट की भी नहीं बिक्री नहीं होगी। तो चलिए जानते हैं और क्या-क्या होंगे बदलाव….

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.