उत्तर प्रदेश के कासमपुर गांव स्थित अंग्रेजी शराब बनाने वाली डिस्टलरी से कोल्डड्रिंक की बोतल में अवैध रूप से शराब बेचने का सनसनीखेज पर्दाफाश हुआ है। बुधवार को पुलिस ने डिस्टलरी के चपरासी सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि फैक्ट्री में तैनात आबकारी विभाग की महिला इंस्पेक्टर एक चपरासी से यह काम करवा रही थी।

कोल्ड ड्रिंक की बोतल में भरकर बेची जा रही थी शराब:

कंकरखेड़ा पुलिस ने 22 मार्च को 550 लीटर शराब कासमपुर गांव से बरामद करते हुए प्रेम कुमार निवासी न्यू गोविंदपुरी और कपिल निवासी नंदनपुरी को गिरफ्तार किया था। तीसरा आरोपी रिद्धी निवासी कासमपुर गली-13 फरार चल रहा था। इसे पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। उसने बताया कि फैक्ट्री का चपरासी सुभास दो लीटर की कोल्डड्रिंक की बोतल में शराब भरकर बाहर लाता था और पांच सौ रुपये में बेच देता था। रिद्धी की निशानदेही पर सुभास निवासी श्रद्धापुरी की गिरफ्तारी हुई। उसने बताया कि यह काम आबकारी इंस्पेक्टर खनीज फातिमा करवाती थी।

रोज बिक जाती थी 100 लीटर शराब:

सुभास के अनुसार, दो लीटर शराब बेचने पर पांच सौ रुपये मिलते थे। इसमें 400 रुपये इंस्पेक्टर को जाते थे और 100 रुपये वह खुद रखता था। उसने हर रोज डिस्टलरी से करीब सौ लीटर शराब अवैध तरीके से बेचने की बात कुबूली है

रिपोर्ट : मोरज राठौर

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.