लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाताअब कनाड़ा से लौटी महिला डॉक्टर का ढाई साल का बच्चा कोरोना संक्रमण की जद में आ गया है। तीन दिन पहले सिविल अस्पताल में बच्चे समेत परिवार के सात सदस्यों को क्वारंटीन किया गया था। जांच रिपोर्ट पॉजटिव आने के बाद बच्चे को केजीएमयू रेफर कर दिया गया है। बच्चे की देखभाल के लिए मां को भी केजीएमयू भेजा गया है। यह बच्चा यूपी में सबसे कम दिन का कोरोना मरीज है।सास-ससुर कमांड अस्पताल में पहले से भर्ती11 मार्च को कनाड़ा से गोमतीनगर स्थित घर लौटी महिला डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उन्हें केजीएमयू में भर्ती कराया गया था। कोरोना को हराने के बाद 19 मार्च को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। उसके बाद महिला डॉक्टर की बुजुर्ग सास और कर्नल ससुर संक्रमण की चपेट में आ गए। दोनों को कैंट के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों का इलाज चल रहा है। एहतियातन परिवार के सात सदस्यों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी की जांच कराई गई। 26 वें दिन महिला डॉक्टर का बच्चा कोरोना की चपेट में आ गया है। सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि संक्रमित बच्चे को केजीएमयू रेफर कर दिया गया।परिवार के सदस्यों में दहशतकोरोना वायरस की चपेट में लागातार परिवार के सदस्य आ रहे हैं। इससे परिवार के लोग दहशत में हैं। सभी घबराएं हुए हैं। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि वह डॉक्टर के सभी निर्देशों का पालन कर रहे हैं। इसके बावजूद 26 दिन बाद संक्रमण परिवार के सदस्य को संक्रमण हुआ इससे चिंता बढ़ गई है। अब समझ नहीं आ रहा है हम क्या करें। परिवार के सदस्यों ने डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ का धन्यवाद किया है।16 में संक्रमण की पुष्टिसोमवार को 16 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इन मरीजों की जांच केजीएमयू में हुई है। इनमें पांच मरीज बलरामपुर अस्पताल में भर्ती हैं। सभी मस्जिदों से पकड़े गए हैं। एक 33 वर्षीय मरीज कहां का है उसकी जानकारी नहीं है। सीतापुर के आठ लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। आगरा के दो मरीजों में संक्रमण का पता चला है। इसके समय विभिन्न अस्पतालों में लखनऊ के 10 मरीज भर्ती हैं।

रिपोर्ट :मोरज राठौर

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.