उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 227 हो गए हैं। इनमें से 94 लोग तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं। शनिवार को इस बात की जानकारी प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने दी। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस के मामले अचानक बढ़ गए हैं क्योंकि तबलीगी जमात से जुड़े 94 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं।

अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि तबलीगी जमात से जुड़े लोगों का प्रभावी तरीके से इलाज किया जाए ताकि वायरस को रोका जा सके। अवस्थी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए प्रमुख स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि यूपी के 27 जिलों में कोरोना के मामले मिले हैं। तबलीगी जमात के कारण राज्य के ज्यादा जिलों तक इस संक्रामक बीमारी का फैलाव हुआ है।

अवनीश अवस्थी ने बताया कि निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले प्रदेश के तबलीगी जमात से जुड़े 1281 लोगों की पहचान की गई है। इनमें से 979 को क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। इसके अलावा 306 विदेशियों की पहचान की गई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में 36 एफआईर दर्ज की गई है और 288 के पासपोर्ट को सीज कर लिया गया है।

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि देश में अब तक कुल 2902 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, इनमें से 68 लोगों की मौत हो गई है तो 183 लोग ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 601 नए मामले आए हैं। यह एक दिन में मिले कोरोना संक्रमितों का अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि देश में आए कुल मामलों में से 1023 केस यानी 30 फीसदी तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि तबलीगी जमात से जुड़े केस तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, अंडमान निकोबार, उत्तराखंड, हिमाचल, झारखंड सहित 17 राज्यों से सामने आए हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.