आईसीसी वनडे रैंकिंग में india team फिर से नंबर वन बन गई है। भारतीय टीम को नंबर वन बनने के पीछे उसकी कोई जीत नहीं है बल्कि वो ऑस्ट्रेलिया के हारने के कारण फिर से नंबर वन पर आ गई है। ऑस्ट्रेलियाई टीम इंग्लैंड से हारने के बाद आईसीसी की वनडे रैंकिंग में फिसल गई है। ऑस्ट्रेलियाई टीम को रैंकिंग में नंबर वन पर बने रहने के लिए उसे हर हाल में जीतना था लेकिन वो इंग्लैंड से हार गई। इंग्लैंड की इस जीत का सीधा लाभ भारत को मिला है। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले दो वनडे मैच गंवाने के बाद भारत वनडे रैंकिंग में शीर्ष से हट गया था और ऑस्ट्रेलिया चोटी पर काबिज हो गया था लेकिन अब महेंद्र सिंह धोनी की टीम फिर से नंबर एक पर पहुंच गई है। भारत के अब 117 अंक हैं जबकि ऑस्ट्रेलिया केवल दो दिन तक नंबर एक पर रहा और वह 116 रेटिंग अंक के साथ दूसरे स्थान पर खिसक गया है। एशेज में करारी हार और वनडे श्रृंखला के पहले तीन मैच गंवाने के बाद इंग्लैंड चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में ऑस्ट्रेलिया को 57 रन से हराने में सफल रहा। इंग्लैंड की इस जीत के नायक मैन ऑफ द मैच बेन स्टोक्स रहे जिन्होंने 70 रन की शानदार पारी खेलने के अलावा 39 रन देकर चार विकेट भी लिए। उनके इस आलराउंड प्रदर्शन के आगे एरोन फि‎ंच का शतकीय प्रयास भी फीका पड़ गया। पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर इंग्लैंड ने आठ विकेट पर 316 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। कप्तान एलिस्टेयर कुक ;44द्ध और इयान बेल ;55द्ध ने पहले विकेट के लिए 87 रन जोडक़र टीम को अच्छी शुरूआत दिलाई जिसके बाद स्टोक्स ;70द्ध और जोस बटलर ;43 गेंद पर 71 रनद्ध ने बड़ी पारियां खेलकर टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जेम्स फाकनर ने 67 रन देकर चार विकेट लिए। ऑस्ट्रेलिया इस मैच में कप्तान माइकल क्लार्कए सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और विकेटकीपर बल्लेबाज ब्रैड हैडिन के बिना उतरा था। उसकी तरफ से केवल फिंच ही अच्छा प्रदर्शन कर पाए जिन्होंने 111 गेंदों पर आठ चौकों और चार छक्कों की मदद से 108 रन बनाए। उनके बाद दूसरा बड़ा स्कोर ग्लेन मैक्सवेल ;26द्ध का था। आस्ट्रेलियाई टीम 47ण्4 ओवर में 259 रन पर आउट हुई। इंग्लैंड की तरफ से स्टोक्स के अलावा टिम ब्रेसनन ने तीन और स्टुअर्ट ब्राड ने दो विकेट लिए। ऑस्ट्रेलिया की जीत की उम्मीद 36वें ओवर के शुरू में धूमिल पड़ गई थी जब ब्रेसनन की गेंद पर ब्रॉड ने फिंच का कैच लपका। इससे स्कोर पांच विकेट पर 189 रन हो गया और इस बार फाकनर आखिरी क्षणों में किसी तरह की चमत्कारिक पारी नहीं खेल पाए। इस दौरे पर पहली बार इंग्लैंड ने तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन को हावी नहीं होने दिया। जॉनसन ने 10 ओवर में 72 रन दे डाले और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिली। इंग्लैंड टीम के लिए राहत की बात यह रही कि ऑस्ट्रेलिया का क्षेत्ररक्षण इस मैच में काफी कमजोर था। ऑस्ट्रेलिया ने एक समय दो ओवर में तीन कैच टपकाए। बेल जब 48 रन पर थे तब नाथन कूल्टर नाइल की गेंद पर उन्होंने डीप स्क्वेयर में शॉट खेला लेकिन जेम्स पेटिनसन कैच नहीं लपक सके। इसके अलावा शान मार्श ने पहली स्लिप में बेल और स्टोक्स के कैच छोड़े।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.