लखनऊ। राजधानी लखनऊ में तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की तलाश में पुलिस और प्रशासन ने मंगलवार को कैसरबाग, मड़ियांव, काकोरी समेत पांच स्थानों पर छापा मारा था। दावा किया जा रहा है कि 27 लोग चिन्हित हुए जो दिल्ली में तबलीगी जमात के आयोजन में शिरकत कर लौटे हैं। इनमें कजाकिस्तान, किर्जिस्तान और र्बाग्लादेश के लोग भी शामिल है। इनमें तीन लोगों में कोरोना के लक्षण दिखे। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी की स्क्रीनिंग करायी, फिर इन्हें क्वॉरंटाइन कर दिया गया। पुलिस के मुताबिक इनमें जिनकी जांच हो गई, उनकी रिपोर्ट निगेटिव आयी है, बाकी की जांच की जा रही है। इस मामले में कैसरबाग और मड़ियांव थाना पर दो मुक़दमे दर्ज किये गए हैं, जिनमें 16 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है

प्रभारी निरीक्षक कैसरबाग दीनानाथ मिश्रा ने बताया कि उनकी तहरीर के आधार पर मरकज के व्यवस्थापक बाजारखाला निवासी अलीहसन और 6 विदेशियों के नाम मुकदमा दर्ज किया गया है। जबकि प्रभारी निरीक्षक मड़ियांव विपिन कुमार सिंह ने बताया कि चौकी प्रभारी अजीजनगर अखिलेश यादव की तहरीर के आधार पर 9 विदेशियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। इसके अलावा खबर लिखे जाने तक काकोरी में मुकदमा दर्ज नहीं किया गया था। बता दें कि बलीगी जमात के आयोजन में यूपी के 157 लोगों के शामिल होने की बात सामने आते ही हड़कम्प मच गया था। इस बीच ही लखनऊ पुलिस व प्रशासन को इनकी सूची उपलब्ध करायी गई जिसमें पहले लखनऊ के 15 लोग होने की बात पता चली। पर, पड़ताल में इनकी संख्या 27 पहुंच गई। इसके कुछ देर बाद ही कमिश्नर मुकेश मेश्राम, पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने तीन टीमें बनायी जिन्हें सामने आये लोगों के इलाके में भेजा गया था। एसीपी आईपी सिंह ने बताया कि इनमें कुछ लोग मना कर रहे हैं कि वह दिल्ली नहीं गए थे। कई लोगों की भाषा भी नहीं समझ में आ रही है। पर, सभी लोग 13 मार्च से 15 मार्च के बीच लौटे हैं। इससे यही लग रहा है कि सभी वहां शामिल होने गए थे। दिल्ली से ब्योरा मिलने के बाद पूरी तरह से साफ हो जायेगा कि ये लोग शामिल हुए थे अथवा नहीं। 

तीन जगह एक साथ पहुंची थी टीम

एडीसीपी दिनेश पुरी के मुताबिक कैसरबाग में गुईन रोड स्थित मरकत वाली मस्जिद और उसके पास, मड़ियांव व काकोरी में टीमें गई थी। यहां पर कैसरबाग में छह, मड़ियांव में सात, काकोरी में आठ, गुईन रोड के पास छह लोग मिले जो दिल्ली से लौटे थे। इन सभी के नमूने लेकर जांच करायी गई। जिनकी रिपोर्ट आयी है, उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। इन सभी को क्वारंटाइन कर दिया गया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.