झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मोरहाबादी में राउंड टेबल समूह की ओर से खोले गए सीएम किचन का प्रारंभ किया। यहांं से प्रतिदिन 5000 लोगों को भोजन उपलब्धध कराया जाएगा। गाड़ियों में भरकर भी भोजन शहर से लेकर गांव तक पहुंचाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा की जल्द ही रांची क्लब और हज हाउस में भी सीएम किचन शुरू होगा।

मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा की कोरोना महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन में कोई भूखा न रहे इसके लिए सरकार के संकल्प को पूरा करने में सामाजिक संगठन एवं जन सहभागिता सराहनीय है। उन्होंने कहा यह आपदा की स्थिति अचानक आई है और लॉकडाउन किया गया। विदेशों में गए झारखंड और देश के लोग फंसे हुए हैं तो वहीं झारखंड के विभिन्न जिलों के लोग दूसरे राज्यों में फंस गए हैं, कई दूसरे राज्य के लोग भी झारखंड में फंसे हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तनाव और डर लाजमी है लेकिन किसी को घबराने की जरूरत नहीं है जो जहां है वही रहे, सामाजिक दूरी बनाकर रखें यही कोरोना से जंग जीतने का मूल मंत्र है। उन्होंने कहा देश के लगभग सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से उनकी बात हो गई है राज्य की सीमा में फंसे लोगों को सुरक्षा स्वास्थ्य सेवा और भोजन उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी है और झारखंड सरकार इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाएगी। दूसरे राज्य में फंसे झारखंडी लोगों तक भी झारखंड सरकार तेजी से पहुंचकर मदद पहुंचा रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.