पुलिस की कथित पिटाई से आहत होकर गुरुग्राम से लखीमपुर खीरी (उत्तर प्रदेश) आए युवक ने अपने ही खेत मे लगे ट्यूबवेल पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इससे पहले उसने पुलिस ज्यादती के बारे में ऑडियो मैसेज भी वायरल किए। हालांकि ‘हिन्दुस्तान’ इन ऑडियो मैसेज की पुष्टि नहीं करता। पुलिस अधिकारी फिलहाल जांच के बाद कोई वजह बताने की बात कह रहे हैं।
लखीमपुर खीरी के मैगलगंज कोतवाली के फरिया पिपरिया गांव निवासी रोशनलाल (22) दो दिन पहले गुरुग्राम से गांव आया था। उसे आइसोलेट किया गया था पर वह वहां से निकल गया। मंगलवार शाम वह गेहूं पिसाने औरंगाबाद आटा चक्की पर आया था। आडियो के मैसेज और परिजनों के मुताबिक चौकी पुलिस ने उसकी चक्की पर ही जमकर पिटाई कर दी। कुछ ही देर बाद उसका शव गांव के बाहर खेत मे पड़ी झोपड़ी में लटका हुआ बरामद हुआ है।
ऑडियो में युवक कह रहा- बहुत मारा पुलिस ने
बताते हैं कि चौकी पुलिस ने चक्की पर जाकर ही उससे पूछताछ की और एक पुलिसकर्मी ने उसे पीटना शुरू कर दिया। पुलिस के जाने के कुछ देर बाद उसने सोशल मीडिया पर अपने तीन आडियो वायरल किये जिसमें वह पुलिस की पिटाई से आहत होकर आत्महत्या करने की बात कह रहा है। ग्रामीणों व परिजनों को जब इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने इसकी तलाश की। आडियो में गुरुद्वारा में होने वाले पाठ की आवाज से परिजनों ने गांव के बाहर बरवर मार्ग पर गुरुद्वारे के पास खोजबीन की तो देर रात उसका शव उसके ही खेत मे लगे ट्यूबवेल से बरामद हुआ है।
सवालों के घेरे में मैगलगंज पुलिस, जांच शुरू
मैगलगंज के गांव थरिया पिपरिया में हुई युवक की मौत से मैगलगंज पुलिस पर सवाल उठने लगे हैं। एसपी ने जांच के आदेश दिए हैं। जांच के बाद पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हो सकती है। रोशन लाल ने ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जिससे मैगलगंज पुलिस की किरकिरी हो रही है। इधर एसपी पूनम ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं। जांच सीओ मितौली को सौंपी गई है। एसपी ने बताया कि जांच में अगर आरोपों की पुष्टि होती है तो पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.