लखनऊ – विगत कई वर्षों से 1 अप्रैल को अटेवा काला दिवस के रुप में मनाता जाता है क्योकि इसीदिन उ० प्र० मे nps रुपी काला कानून लागू हुआ था। अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बन्धु ने बताया कि इस बार 13 लाख nps शिक्षक, कर्मचारी कोरोना की वजह से राष्ट्रीय आपदा को देखते हुए 1 अप्रैल को अटेवा मदद दिवस के रुप मे मनायेगा । जो भी साथी किसी तरह की मदद करना चाहते है वो शासन प्रशासन के निर्देशो का पालन करते हुए यह पुनीत कार्य करे।

उन्होंने कहा कि यह सम्पूर्ण मानवता के लिए संकट का समय है। जो भी आपके आस पास जरूरत मंद लोग हो उन्हे खाना -पानी ,विस्कुट दूघ – दवा ,मास्क , या जो आप अवश्य समझे मदद करे। या कोरोना के बारे व सरकारी निर्देशो के पालन के बारे मे जानकारी देकर क२ भी मदद कर सकते है । और साथ ही जो सरकारी कर्मचारी इस संकट मे अपनी जान की परवाह न करते हुए काम करे उनकी भी मदद करे या दुआए दे जिससे उनका मनोवल बढ सके

प्रदेश महामंत्री डा० नीरजप्रति त्रिपाठी ने बताया कि अटेवा हमेशा अपनी सामाजिक ञिम्मेदारी निभाने मे अनूठी छाप छोडी है चाहे अटेवा के साथियो के दुःख के समय की मदद २ही हो या अर्द्धसैनिक बलो के लिए 7 दिसम्बर 2019 को रक्तदान की बात हो या पुलवामा के शहीद सैनिको के लिए 14 फरवरी 2020 को याद करते हुए कैडिल मार्च करके उनके लिए पुरानी पेंशन की बहाली व शहीद का दर्जा देने की वाजिव मांग हो ।

प्रदेश मीडिया प्रभारी डा० राजेश कुमार ने बताया कि इस संकट की घडी मे लोगो की मदद ही सच्ची मानवता है और अटेवा 1 अप्रैल को उ० प्र० के हर जिलो मे अपने अपने तरीको से अटेवियन्स लोगो के मदद करने के लिए आगे आयेगे ।संदीप वर्मा मण्डल पर्यवेक्षक ने कहा अटेवा शिक्षक एवं कर्मचारियों के हक की लड़ाई लड़ता रहा है लेकिन ऐसे कठिन समय में अटेवा सभी जरूरतमंदों की मदद करके अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभाएगा। डॉ०आशीष वर्मा मण्डल अध्यक्ष ने कहा कि अटेवा संविधान द्वारा प्राप्त अपने अधिकारों की ही सिर्फ बात नही करता वो अपने कर्तव्य भी निभाना जानता है इसलिये 01 अप्रैल को काला दिवस नही बल्कि मदद दिवस के रूप में मना कर अटेवा अपना समाजिक कर्तव्य भी निभाएगा।

प्रमोद पाठक मण्डलीय मंत्री ने कहा कि अटेवा ने हमेशा ऐसे मुद्दों पर काम किया है जो शिक्षक एवं कर्मचारियों का हक़ है और अपना हक मांगना कभी गलत नही होता परन्तु आज देश को हमारे कर्तव्यों की आवश्यकता है इसलिए 01 अप्रैल को हम जरूरतमंदों की मदद कर अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को निभाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.