राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत पूरे गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। लॉकडाउन के बावजूद भी नोएडा के लोग घरों से बाहर निकलना बंद नहीं कर रहे हैं। इसको देखते हुए सरकार ने गौतमबुद्ध नगर में रैपिड एक्शन फोर्स और यूपी पीएसी की तैनात कर दिया है।

पुलिस कमिश्रर ऑफिस से मिली जानकारी के मुकाबिक एक बटालियन रैपिड एक्शन फोर्स और एक बटालियन पीएसी भेजी गई हैं। सोमवार से पुलिस, पीएसी और आरएएफ मिलकर लॉकडाउन का पालन करवाएंगे। गौतमबुद्ध नगर पुलिस के अधिकारी ने बताया कि जिले के हालात कोरोना वायरस को लेकर बिगड़ते जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के मरीज हमारे जिले में ही हैं।
दूसरी ओर लोगों को कोरोना से बचाने के लिए लॉकडाउन किया गया है लेकिन तमाम अपील के बावजूद भी लोग समझने के लिए तैयार नहीं हैं। लिहाजा, सरकार ने अब सख्ती बरतनी का फैसला लिया है। रविवार को गौतमबुद्ध नगर के सभी रिहायशी क्षेत्रों में पुलिस ने लाउडस्पीकर पर ऐलान कर दिया है कि बिना वजह घरों से बाहर नहीं निकलें।

कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते देश में लॉकडाउन लागू है। लोगों को बेहद जरूरी आवश्यकताओं के लिए ही घरों से निकलने की इजाजत है। हालांकि कई शहरों में लोग इस लॉकाडाउन का पालन अच्छी तरह नहीं कर रहे हैं। लिहाजा प्रशासन को इस तरह की सख्ती बरतनी पड़ रही है।
आज नोएडा आ सकते हैं सीएम योगी आदित्यनाथ
नोएडा में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी चिंतित हैं। उन्होंने वहां की स्थिति का जायजा लेने और इलाज की मुकम्मल व्यवस्था करने के लिए रविवार को आनन-फानन में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे को नोएडा भेज दिया है। मुख्यमंत्री सोमवार को खुद भी हालत की जानकारी करने के लिए नोएडा जा सकते हैं।
तीन दिनों में कोरोना के 19 नए मरीज
लॉकडाउन के बावजूद नोएडा में पिछले तीन दिनों में 19 मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज मिले हैं। इस स्थिति को जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा बड़ी चुनौती मान रहा है। वहीं यूपी में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 71 पहुंच गई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.