नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का मानना है कि लोगों ने जंक फूड खाकर अपनी इम्यूनिटी खराब कर दी है। इतना ही नहीं वो मानते हैं कि कोविड-19 महामारी (कोरोनावायरस संक्रमण) फैलने का यह भी एक कारण है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया के लोग घर से ज्यादा बाहर का खाना खाते हैं और इस वजह से ही कोविड-19 महामारी इस तरह से फैल गई।

इस समय दुनियाभर के करीब 185 देश इस महामारी से जूझ रहे हैं, 4.8 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं, जबकि 21 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। यह आंकड़े हर दिन के साथ बढ़ते ही जा रहे हैं। शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने इसके बारे में काफी लंबी चर्चा की है। अख्तर ने इस दौरान लोगों से अपील की है कि वो अपने घरों में ट्रेनिंग लें और खुद को इस मुश्किल समय में फिट रखें। उन्होंने कहा, ‘अगर हमें कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़नी है, तो हमें अपने फेफड़े सही रखने होंगे। हमें खुद को दोष देना चाहिए, हमने बाहर का और जंक फूड खाकर अपना इम्यून सिस्टम खराब पिछले करीब 20 सालों में खराब कर लिया है।’

सोशल मीडिया पर डॉक्टर बनने वालों की अख्तर ने लगाई क्लास
उन्होंने कहा, ‘अगर हमने घर का खाना खाया होता और फिजी ड्रिंक्स नहीं पी होती, तो हमारी इम्युनिटी अच्छी होती। बीमारियां नहीं आती, लेकिन हमारी इन्युनिटी खराब हो गई।’ इसके अलावा अख्तर ने सोशल मीडिया डॉक्टर्स की भी जमकर क्लास लगाई, उन्होंने कहा कि बिना पर्याप्त जानकारी के वो कुछ भी अफवाह फैला देते हैं। उन्होंने कहा, ‘कोरोनावायरस के बाद सभी ने वीडियो पोस्ट करने शुरू कर दिए हैं, इस तरह से वो परिस्थितियों का फायदा उठा रहे हैं, हमें ऐसे मजाक और वीडियो व्हाट्सऐप पर शेयर ना करें और अपने परिवार के साथ समय गुजारें।’

अख्तर ने की पाकिस्तान की तुलना भारत से
इससे पहले भी शोएब अख्तर कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर अपनी बात रख चुके हैं। उन्होंने कहा था, ‘मैं किसी बहुत जरूरी काम से बाहर निकला, मैंने किसी से हाथ नहीं मिलाया और ना ही गले मिला। मेरी कार के शीशे बंद थे, और मैं काम खत्म होते ही घर लौट आया। बाहर मैंने जो देखा उसे देखकर मैं परेशान हो गया। मैंने चार लोगों को बाइक पर जाते हुए देखा, ऐसे लग रहा कि लोग पिकनिक मना रहे हैं। लोग बाहर साथ में बैठकर खाना खा रहे हैं, घूम रहे हैं। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि अभी तक रेस्टोरेंट क्यों खुले हैं।’

उन्होंने आगे कहा था, ‘भारत को देखिए लोग कर्फ्यू में सपोर्ट कर रहे हैं, लेकिन पाकिस्तान में, हम घूमना बंद नहीं कर पा रहे हैं। 90 फीसदी केस ह्यूमन कॉन्टैक्ट से हैं लेकिन लोग घर नहीं रहना चाह रहे हैं। हम कर क्या रहे हैं? यह खतरनाक है। यह ऐसा कि हम लोगों की जिंदगी से खेल रहे हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.