जनता कर्फ्यू के बीच रविवार को दिनभर दूधियों ने भी खुद को घरों में कैद रखा। रात नौ बजे सट्टी पर दूध लेकर पहुंचे तो खरीदने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। तमाम कवायद के बाद पुलिस भीड़ को हटाने में असफल रही। मारामारी देख पुलिस को मजबूरन लोगों को लाइन में लगवाकर दूध वितरण करवाना पड़ा। 70 रुपये प्रति लीटर दूध बिका। रात एक बजे तक लोगों की कतार लगी रही।

पीएम के आह्वान पर काशीवासियों ने संयम का परिचय दिया और पूर्व में घोषित समय सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक अपने घरों में रहे। हालांकि इसी बीच सरकार ने जनता कर्फ्यू का समय सोमवार की सुबह छह बजे तक बढ़ा दिया। उधर, रात नौ बजे के बाद लोग आवश्यक सामान के लिए निकल पड़े।

चूंकि गोदौलिया दूध सट्टी में प्रतिदिन रात के समय हजारों लीटर दूध बिकता है। इसलिए यहां रात 10 बजते-बजते काफी संख्या में लोग पहुंच गए। दूध के लिए मारामारी शुरू हो गई। आपाधापी में स्थिति यह हो गई कि दूध की बिक्री रोकनी पड़ी। उसके बाद गोदौलिया चौराहे पर तैनात पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को लाइन में लगवा दिया। इसके बाद दो लाइन लग गयी। रात एक बजे तक लोग कतार में खड़े होकर दूध खरीदते रहे। मंडी में दूध की आवक भी काफी कम रही।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.