बरेली। ठिरिया निवजात निवासी हाफिज पिछले काफी सालों से सऊदी अरब में रहकर पेंटिंग का काम करता है। 5 अप्रैल को उसका निकाह ठिरिया की युवती से है। सभी तैयारियां मुकम्मल हो चुकी थी इस बीच कोरोनावायरस के रूप में दुनिया में महा संकट गहराया। सऊदी में फ्लाइट कैंसिल होने लगी। हालांकि 12 से 15 मार्च तक फ्लाइट खोली गई तो टिकट बुक कराई। 18 मार्च को बरेली पहुंचना था। लेकिन सऊदी में फ्लाइट एक बार फिर कैंसिल हो गई जिससे देश में आना कैंसिल हो गया।

कोरोनावायरस से एहतियात को देखते हुए निकाह की तारीख तक फ्लाइट दोबारा शुरू होना मुमकिन नहीं दिख रहा है ऐसे में फिलहाल हफीज की शादी फस गई है। अब घरवाले निकाह की तारीख आगे बढ़ाने की तैयारी कर रहे हैं। हफीज महज एक केस है। बरेली के ठिरिया निजावत खां से बड़ी तादाद में लोग सऊदी अरब में रह रहे हैं जो कोरोनावायरस से एहतियात के चलते लिए फैसलों से अपनों से दूर है लेकिन वीडियो और फोन कॉल के जरिए रोज बात कर रहे हैं और सुरक्षित रहने की दुआ कर रहे हैं। बाबू खान के दोनों बेटे नाजिम और वसीम सऊदी में रहकर नौकरी कर रहे हैं। कुछ दिन पहले परिवार में शादी थी तो वह बरेली एक घर आए थे। अब वापस जाना था लेकिन एतिहाद के चलते फ्लाइट कैंसिल हो गई है। उस सोच रहे हैं कि वह वापस जाएं हालांकि मानते हैं कि स्वास्थ्य सबसे अहम है।

अल्ताफ का बेटा नौशाद काफी सालों से सऊदी के दमन में कार के कारखाने में है। अरुणा वायरस के बढ़ते असर से परिजन परेशान थे नवसाद से बदरू निशा वीडियो कॉल हुई उसने बताया कि को रोना के चलते सब बंद है। 2 लोगों को भी साथ निकलने। नहीं दे रहे हैं कुछ परचून दवा की दुकानें और होटल खोले हैं हुकूमत ने हर जगह सैनिटाइजर मुहैया कराए हैं हर जगह पूरा ध्यान रखा जा रहा है। सब खैरियत है। वहां परिजनों ने बताया कि यहां भी सरकार सतर्क है पर्याप्त सावधानी बरती जा रही। गांव के ही रहने वाले शाकिर अली का बेटा कैसर अली सऊदी अरब के रियाद में है भाई किस्मत भी वहीं रह रहे शाकिर बताते हैं कि रोज कैसर से बात हो रही है। कोई दिक्कत नहीं है भाई आने को थे लेकिन उड़ाने रद्द होने के चलते अब नहीं आ रहे ठीक भी है वहां सुरक्षित हैं तो वहीं रहे।

महफूज अली ने बताया कि जब कोरोनावायरस के बारे में सुना तो चिंता हुई थी बेटे जुनैद से बातचीत हो गई है। वहां सब ठीक है। वही सगीर अहमद ने बताया खाना होटल से पैक्ट ही मिल रहा है बेटे सदाकत से बात हुई वहां की हुकूमत भी सतर्कता बरत रही है। वहीं पूर्व चेयरमैन। किस्मत अली ने बताया कि गांव के कई लोग सऊदी में हैं। कई रिश्तेदार भी हैं कोरोना को लेकर वहां टेंशन है लेकिन वहां भी पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.