narad-rai-52a8c218b98a1_exlलखनऊ। अखिलेश सरकार अपने मंत्रियों से ही हलकान है।
राहत शिविरों में मुजफ्फरनगर दंगा पीडि़तों की ठंड से मौत पर यूपी सरकार के बेतुके बयानों का सिलसिला जारी है। अब अखिलेश सरकार में खेल मंत्री नारद राय ने का कहना है कि लोग तो महलों में भी मरते हैंए तो फिर राहत कैंपों में लोगों के मरने पर हंगामा मचाने की क्या जरूरत है। वहींए दंगा पीडि़तों को लेकर अखिलेश सरकार की लापरवाही से नाराज इत्तेहाद.ए.मिल्लत कौंसिल के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने यूपी सरकार से अपने गठबंधन को तोडऩे का ऐलान किया है।
ये बयान भी उसी समाजवादी सरकार की तरफ से आया है जो लगातार दंगा पीडि़तों के प्रति अपनी बेरुखी को लेकर बदनाम है। इस बयान से साफ जाहिर होता है कि मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर अखिलेश सरकार कितनी गंभीर है। मंत्री जी का ये बयान ऐसे समय आया है जब खुद अखिलेश सरकार ने माना है कि मुजफ्फरनगर में दंगों के बाद राहत शिविरों में रह रहे 34 बच्चों की मौत हुई है। यही नहीं अपनी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की तर्ज पर नारद राय ने भूख से मरने वालों को सरकार की छवि खराब करने वाला और ठंड में बिना कपड़ों के मरने वालों को बीजेपी का एजेंट करार दिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.