कानपुर – मोहम्मद अली पार्क में 33 दिनों से सीएए के खिलाफ धरना दे रही महिलाओ से पुलिस ने देर रात जबरन पार्क खाली करवा दिया. शनिवार को डी एम से समझौते के बाद प्रशासन ने राष्ट्रगान के साथ ये धरना समाप्त करवा दिया था. डी एम ने वादा किया था किसी निर्दोष को जेल नहीं भेजा जाएगा इसके वावजूद भी कुछ महिलाये धरने से हटने को तैयार नहीं थी. जिसको लेकर रविवार रात भारी पुलिस बल के साथ अधिकारियों ने महिलाओं से जबरन पार्क खाली करवा लिया. रात में पुलिस कार्यवाही से नाराज सैकड़ो लोग सड़क पर उतर आये जिन्हे पुलिस अधिकारी समझाने में जुटे है .

तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए आईजी,डीआईजी व भारी पुलिस बल मोहम्मद अली पार्क पहुंचा और लोगो को समझाया.
डीआईजी अनंत देव तिवारी का कहना है कि सीएए के विरोध में पिछले एक महीने से धरना चल रहा था. शनिवार को सभी प्रबुद्ध नागरिको से मिलकर निर्णय लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन दिलवाकर धरने को समाप्त किया गया था. कुछ ऐसे लोग थे जो धरने को जारी रखना चाहते थे, उनको समझाया गया की अमन चैन बनाए रखने के लिए जो निर्णय लिया गया है उसका सभी लोग सम्मान करे.माननीय सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को संज्ञान में लिया हुआ है,इसलिए इसपर जो भी निर्णय होगा वो सुप्रीम कोर्ट करेगा

कानपुर जिलाधिकारी ब्रह्मा देव राम तिवारी का कहना है कि धरना दे रहे लोगो से कई बार बात की गई थी,जिसके बाद तय हुआ था की धरना समाप्त कर दिया जाएगा. कुछ लोग ऐसे थे जो धरना समाप्त नहीं कर रहे थे,उनको समझाकर धरने को शांतिपूर्वक तरीके से समाप्त कराया जा रहा है.

रिपोर्ट- दिवाकर श्रीवास्तव 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.