लखनऊ – समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) जब चाहें तब वह विकास के मुद्दे पर उनसे बहस करने को तैयार हैं. बीजेपी हमको जगह और मंच के बारे में बता दे, हम खुद ही वहां बहस के लिए पहुंच जाएंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि लेकिन बहस का मुद्दा विकास होगा, नौकरियां होंगी, किसानों के मुद्दे होंगे, नौजवानों के मुद्दे होंगे. अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया और कहा कि बीजेपी लगातार मुद्दों से भटकाने की राजनीति कर रही है. खासतौर से पूरे देश को जाति और धर्म के नाम पर बांटकर नफरत फैला रही है.

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे जनेश्वर मिश्र की मिश्रा की 10वीं पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें याद करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि “समाज में समानता के लिए छोटे लोहिया ने संघर्ष किया. समाज में खाई को पाटने का काम किसी ने किया तो वे छोटे लोहिया ही थे. जो रास्ता छोटे लोहिया ने दिखाया उसी रास्ते पर हम चलेंगे.” अमित शाह के CAA पर दिए बयान पर अखिलेश यादव ने कहा कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल हो रहा है वो राजनीति करने वालों की भाषा नहीं है.

यहां “ठोक देंगे” और “ज़ुबान खींच” लेंगे जैसी भाष का इस्तेमाल बीजेपी कर रही है. सपा ही सिर्फ CAA का विरोध नहीं कर रही है, बल्कि महिलाओं ने भी इसका विरोध किया है. धर्म के नाम पर नागरिकों के साथ भेदभाव कब तक बीजेपी वाले करेंगे. वोट के लिए भारत की आत्मा को क्यों खत्म कर रही है बीजेपी? बहुमत से बीजेपी आम लोगों की आवाज नहीं दबा सकती है. अखिलेश यादव ने जातीय जनगणना की मांग कीअखिलेश यादव ने कहा कि जातीय जनगणना से बीजेपी क्यों डर रही है. अगर जातीय जनगणना हो जाये तो हिन्दू-मुस्लिम का झगड़ा खत्म हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.