दिल्ली – भारतीय क्रिकेटर में ‘स्विंग के किंग’ कहे जाने वाले इरफान पठान ने शनिवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर दिया। उन्होंने रिटायरमेंट का ऐलान करते हुए कहा कि आज मैं सभी तरह की क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं। यह मेरे लिए भावुक पल है, लेकिन यह ऐसा पल है जो हर खिलाड़ी की जिंदगी में आता है। छोटी जगह से हूं और मुझे सचिन तेंडुलकर और सौरभ गांगुली जैसे महान खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिला, जिसकी हर किसी को तमन्ना होती है।

इस दौरान उन्होंने अपने सभी टीम के सदस्यों, कोचों, सपॉर्ट स्टाफ और फैन्स का धन्यावाद किया। उन्होंने कहा, ‘मैं उन सभी साथियों, कोचों और स्पॉर्ट स्टाफ का शुक्रिया करना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे हमेशा सपॉर्ट किया। मैं उस खेल को ऑफिशली छोड़ रहा हूं, जो मुझे सबसे अधिक प्यारा है।’ अपने रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए इरफान भावुक हो गए। बता दें कि इरफान ने अपना आखिरी इंटरनैशनल क्रिकेट साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2 अक्टूबर, 2012 को खेला था, जो टी-20 था।

इरफान पठान के करियर की बात करें तो उन्होंने भारत के लिए टेस्ट 29 मैच खेले। इस दौरान उन्होंने 31.57 की औसत से 1105 रन बनाए, जिसमें 1 शतक और 6 अर्धशतक शामिल हैं। उनके नाम 32.26 की औसत से 100 विकेट हैं, जबकि बेस्ट बोलिंग 59 रन देकर 7 विकेट है। टेस्ट में उन्होंने 2 बार 10 या उससे अधिक विकेट, 7 बार 5 विकेट और 2 बार 4 विकेट झटके हैं।

वनडे करियर में इस ऑलराउंडर ने 120 मैच में खेले और 23.39 की औसत से 1544 रन बनाए। उनके नाम 5 अर्धशतक भी हैं, जबकि उन्होंने 173 विकेट झटके। वहीं, टी20 फॉर्मेट में इरफान ने भारतीय टीम के लिए 24 मैच में में 172 रन बनाए और 28 विकेट अपनी झोली में डाले।इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी इरफान पठान का प्रदर्शन शानदार रहा है। कई टीमों के लिए खेलने वाले इरफान पठान ने 103 मैच में 1139 रन बनाए और गेंद के साथ 33.11 के औसत से 80 विकेट अपने नाम किए थे।

रिपोर्ट – भाषा इनपुट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.