कश्मीर – इंटरनेट सेवा बहाली समेत अन्य मांगों को लेकर आज यानी कि सात दिसंबर को प्रस्तावित जम्मू बंद से पहले ही पैंथर्स पार्टी के चेयरमैन हर्षदेव सिंह, प्रदेश अध्यक्ष बलवंत सिंह मनकोटिया समेत 42 नेताओं को हिरासत में ले लिया गया।

समर्थन जुटाने के लिए अंबफला इलाके में पर्चा बांटने के दौरान हिरासत में लिए जाने का विरोध करने के दौरान पुलिस से हुई धक्कामुक्की में हर्षदेव सिंह को चोटें पहुंची हैं। नेताओं को हिरासत में लिए जाने के विरोध में उधमपुर समेत कई जगहों पर पैंथर्स कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। देर शाम सभी नेताओं को रिहा कर दिया गया।

इस बीच विभिन्न संगठनों ने बंद को समर्थन दिया है। चैंबर ऑफ ट्रेडर्स फेडरेशन, फेडरेशन ऑफ इंडस्ट्री और ऑल जेएंड ट्रांसपोर्टर वेलफेयर एसोसिएशन ने बंद का समर्थन नहीं किया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष टीएस वजीर ने कहा कि जम्मू बंद से संगठन का कोई लेना देना नहीं है।

शनिवार को रूटीन में मेटाडोर, बसें, टैक्सियां चलेंगी। लोगों को परेशानी पेश नहीं आने दी जाएगी। एसएसपी तेजेंद्र सिंह ने बताया कि बंद पर नजर रखी जाएगी। किसी को भी कानून-व्यवस्था हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

उपायुक्त जम्मू सुषमा चौहान के अनुसार शनिवार को शहर और आसपास के इलाकों में आम दिनों की तरह सामान्य गतिविधियां जारी रहेंगी। सभी स्कूल, कॉलेज खुले रहेंगे। हालांकि, बंद के आह्वान के मद्देनजर कुछ निजी स्कूलों की ओर से एसएमएस भेजकर स्कूल बंद रहने की सूचना दी गई है।

रिपोर्ट – एजेंसी इनपुट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.