लखनऊ –  नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर सिद्धार्थनगर कर दिया गया है। यह जानकारी लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने दी। उन्होंने बताया कि सिद्धार्थनगर जिले में जो रेलवे स्टेशन था उसका नाम नौगढ़ था। इसे बदलकर सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन कर दिया गया है।

इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है। मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय और इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किए जाने के बाद से ही नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम सिद्धार्थनगर किए जाने की मांग तेज हो गई थी। लोगों का कहना था कि जिले की पहचान सिद्धार्थनगर से है, ऐसे में स्टेशन का नाम नौगढ़ से बदलकर सिद्धार्थनगर किया जाना चाहिए।

लोगों का यह भी तर्क था कि तथागत की धरती पर आने से पूर्व सैलानियाें या अन्य लोगों को नाम के कारण भ्रमित नहीं होना पड़ता था। मुख्यालय के पीएचसी और रेलवे स्टेशन को नौगढ़ के नाम से जाना जाता है, जबकि नगर पालिका परिषद, थाना व जिला मुख्यालय सिद्धार्थनगर के नाम से जाना जाता है। इस संबंध में सांसद जगदंबिका पाल प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद दो बार सीएम को पत्र लिख चुके थे।

UP पुलिस ने मायावती को गिनाए अपने एनकाउंटर के आंकड़े पिछले माह सांसद जगदम्बिका पाल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम बदलने के लिए गृह मंत्रालय ने अपनी सहमति दे दी है। सहमति के बाद नाम बदलने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। रेलवे को हरी झंडी मिलने के बाद बोर्ड पर सिद्धार्थनगर अंकित हो जाएगा। दरअसल परिवर्तन को लेकर राज्य सरकार को प्रस्ताव बना कर केंद्र को भेजना होता है, लेकिन प्रदेश की गैर भाजपा सरकारों ने इसमें रुचि नहीं ली।

यही वजह है कि अब तक यह मामला लंबित रहा। 2017 में प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद नाम परिर्वतन का रास्ता साफ हुआ और केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया। बता दें कि सिद्धार्थनगर जिले की घोषणा 1988 में हुई थी। उस समय यहां रेलवे स्टेशन नौगढ़ के नाम से था। जिला सृजन के बाद लोगों को लगा कि शासन स्तर से रेलवे स्टेशन का नाम भी बदल जाएगा, लेकिन नाम बदलने को लेकर कोई कवायद नहीं हुई।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.