झाँसी –  बैंक अपनी कार्यशैली में सुधार लाये, ताकि अनुसूचित जाति के कमजोर वर्गो को उ0प्र0 अनुसूचित एवं विकास निगम की योजनाओ का लाभ दिलाया जा सके और उन्हे समाज की मुख्यधारा से जोड़ते हुये उनका सामाजिक एवं आर्थिक विकास किया जा सके। बैंक प्राप्त आवेदनों को लम्बित न रखे तत्काल निस्तारण करते हुये धनराशि उपलब्ध कराये जिससे योजनान्तर्गत कार्य प्रारम्भ किया जा सके। ग्रामीण क्षेत्र में योजनाओ की प्रगति असंतोषजनक है, इसमे अवश्य सुधार लाया जाये।

यह निर्देश मा0 डा श्री लालजी प्रसाद निर्मल अध्यक्ष उ0प्र0 अनुसूचित जाति वित एवं विकास निगम लि0 उ0प्र0 ने सर्किट हाऊस में विभागीय योजनाओ की समीक्षा करते हुये अधिकारियो को दिये।उन्होने कहा कि बैंकर्स सवंदेनशील होकर कार्य करे और समाज के निचले वर्ग के उत्थान हेतु विभागीय योजनाओ का लाभ लोगो तक पहुंचाये।

अपने जनपद झांसी भ्रमण पर अध्यक्ष उ0प्र0 अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लि0 उ0प्र0 डा श्री लालजी प्रसाद निर्मल ने विभाग द्वारा संचालित पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना, नगरीय क्षेत्र दुकान निर्माण योजना, मैन्युअल स्केवैन्जरों की पुनर्वास योजना, लाण्ड्री एवं ड्राईक्लीनिंग योजना तथा निगम की मार्जिन मनी ऋण वसूली की विस्तृत समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि लक्ष्य के सापेक्ष लाभार्थियों को चिन्हित करते हुये उन्हे लाभान्वित किया जाये। उन्होने कहा कि विभाग द्वारा ब्याज रहित ऋण उपलब्ध कराया जाता है ताकि लाभार्थी को परेशानी न हो।

अध्यक्ष उ0प्र0 अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लि0 उ0प्र0 ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना (स्वतःरो.यो.) की समीक्षा करते हुये अब तक की प्रगति पर असंतोषजनक व्यक्त किया और सुधार लाये जाने के निर्देश दिये। उन्होने 459 आवेदन बैंको में लम्बित रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये एलडीएम को निर्देश दिये कि व्यक्तिगत रुचि लेकर लम्बित आवेदनो का निस्तारण कराये। उन्होने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र मे 1190 लक्ष्य के सापेक्ष 351 बैंकों को प्रेषित किये गये आवेदनो में 105 स्वीकृत है तथा मात्र 55 वितरित किये गये है। उन्होने शहरी क्षेत्र में योजना की समीक्षा करते हुये कहा कि 210 लक्ष्य के सापेक्ष 108 आवेदन-पत्र बैंक को प्रेषित किये गये, जिसमे 39 स्वीकृत और सभी को धनराशि वितरित किया जा चुका है।

अध्यक्ष डा श्री लालजी प्रसाद निर्मल ने नगरीय क्षेत्र में दुकान निर्माण योजना की समीक्षा करते हुये लक्ष्य शत-प्रतिशत पूर्ण करने के निर्देश दिये।समाज कल्याण अधिकारी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि जनपद का लक्ष्य 13 लाभार्थियो का है जिसमे 5 लाभार्थियो को लाभान्वित किया जा चुका हैं। समीक्षा के दौरान उन्होने कहा कि इसमे ऐसे लाभार्थी जिनके पास भूमि है उन्हे दुकान निर्माण हेतु 78,000 रुपये दिये जाते है, प्रथम किस्त 58500 रुपये तथा द्वितीय किस्त 19500 रुपये की धनराशि लाभार्थी को दी जाती है। उन्होने शेष लाभार्थियो के चयन हेतु निर्देश दिये।

विभागीय योजनाओं की समीक्षा करते हुये अध्यक्ष डा श्री लालजी प्रसाद निर्मल ने लाण्ड्री एवं ड्राईक्लीनिंग योजना की समीक्षा करते हुये कहा कि बिना ब्याज धोबी समुदाय के लिये यह योजना है। जिसमे लाण्ड्री हेतु 1.00 लाख रुपये तथा ड्राईक्लीनिंग हेतु 2.16 लाख रुपये लाभार्थी को रोजगार हेतु दिये जाते है। जनपद में योजनान्तर्गत लाण्ड्री हेतु 09 तथा ड्राईक्लीनिंग हेतु 3 लाभार्थियो का चयन कर लिया गया है तथा रोजगार सृजन हेतु निगम मुख्यालय लखनऊ से धनराशि की मांग हेतु प्रस्ताव प्रेषित किया जा चुका है।

अध्यक्ष डा श्री लालजी प्रसाद निर्मल ने निगम/शासकीय अधिष्ठान के अधिकारी/कर्मचारी द्वारा की गयी वसूली की समीक्षा करते हुये कहा कि किसी भी दशा में उत्पीड़न की कार्यवाही न की जाये। जनपद में 173.82 लाख के के सापेक्ष 157.00 लाख रुपये की वसूली पूर्ण कर ली गयी जो संतोषजनक है।
इस अवसर पर एलडीएम अरुण कुमार, प्रचार-प्रसार सहायक अतुल दीक्षित, सहायक प्रबन्धक हेमचन्द्रा , वरूण वर्मा ,राहुल कंजर,सन्तराम पेंटर, अजीत चौधरी,आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-सूरज कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.